रविवार, 25 जनवरी, 2015 | 17:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
हमारी दोस्ती का असर दोनों देशों के रिश्तों में दिख रहा है: ओबामाओबामा : अकेले में मिलते हैं तो एक दूसरे को समझते हैंएक-दूसरे को जानने की कोशिश की : मोदीमोदी : पर्सनल कमेस्ट्री मायने रखती हैअकेले में जो बात होती है उसे पर्दे में रहने दें : मोदीरक्षा क्षेत्र में तकनीकी सहयोग पर हमारी चर्चा हुई:ओबामाओबामा : मंगलवार को रेडियो पर भारतीय लोगों से बातचीत का इंतजार हैहम परमाणु करार पर अमल की ओर आगे बढ़े :ओबामाओबामा :हम भारत-अमेरिका के रिश्तों को नई ऊंचाई तक ले जाना चाहते हैंहम अपने व्यापारिक रिश्तों को और आगे ले जाएंगे : ओबामाओबामा : चाय पर चर्चा के लिए पीएम मोदी का शुक्रियान्योते के लिए धन्यवाद : ओबामाओबामा ने हिंदी में कहा मेरा प्यार भरा नमस्कारओबामा ने नमस्ते के साथ अपना बयान शुरू कियापर्यावरण के लिए दोनों देश मिलकर काम करेंगे :मोदीआतंकी गुटों पर कार्रवाई को लेकर कोई भेद नहीं रखेंगे :मोदीमोदी: रक्षा के क्षेत्र में, समुद्री सुरक्षा के क्षेत्र में हम सहयोग बढ़ाएंगेपरमाणु करार के व्यवसायिक नतीजे अब दिखेंगे : मोदीमोदी : पिछले कुछ दिनों में दोनों देशों में गर्मजोशी दिखीअमेरिका सबसे अच्छा दोस्त है :मोदीमैं अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का धन्यवाद करते हैं कि उन्होंने हमारा न्यौता स्वीकारा। मैं जानता हूं कि दोनों कितने व्यस्त रहते हैं- मोदीमोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत में ओबामा और मिशेल का स्वागत है। गणतंत्र दिवस पर हमारा महमान बनना खास हैहैदराबाद हाउस में हुई मोदी और ओबामा की मुलाकातओबामा और मोदी देंगे साझा बयानथोड़ी देर में मीडिया के सामने आएंगे ओबामा और मोदी
दिमाग तेज करना हो तो रोज खाएं बैक्टीरिया
लंदन, एजेंसी First Published:28-05-10 07:55 PMLast Updated:28-05-10 07:55 PM
Image Loading

जनाब, दिमाग को तंदुरूस्त रखना है तो जमकर खाइए बैक्टीरिया। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। न्यू साइंटिस्ट में प्रकाशित इस अध्ययन को अंजाम देने वाले वैज्ञानिकों ने इसके लिए चूहों पर प्रयोग किया।

उन्होंने चूहों को मूंगफली खाने को दी पर उस मूंगफली के साथ मिटटी में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को भी खुराक में दिया।
   
मूंगफली के साथ बैक्टीरिया का निवाला लेने वाले वे चूहे चक्रव्यूह में दौड़ना आसानी से और दोगुने रफ्तार से सीख गए। उन्हें इस दौड़ में मजा भी आया।

न्यूयॉर्क के सेज कॉलेज के डोरोथी मैथ्यूज की अगुवाई में दल ने पाया कि बैक्टीरिया खाने वाले चूहे सामान्य मूंगफली खाने वाले चूहों की तुलना में चक्रव्यूह में दोगुने रफ्तार से भागे।

मैथ्यूज ने बताया कि इस साबित करता है कि उन्होंने चक्रव्यूह को तोड़ना तेजी से सीखा। चक्रव्यूह में चूहों की यह दौड़ छह हफ्तों तक 18 बार चली और हर बार बैक्टीरिया खाने वाले चूहे आगे रहे।

वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि बैक्टीरिया ने उनके प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित किया था। इस बारे में ऐसे ही नतीजों वाला एक अध्ययन 2007 में भी हो चुका है।

मैथ्यूज ने कहा कि बैक्टीरिया सीखने की प्रक्रिया को तेज करते हैं क्योंकि उनका असर दिमाग के एक हिस्से हिप्पोकैम्पस पर पड़ता है जो याददाश्त के लिए जवाबदेह होते हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड