बुधवार, 05 अगस्त, 2015 | 11:57 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    जम्मू-कश्मीर राजमार्ग पर बीएसएफ के काफिले पर हमला, दो जवान शहीद, एक आतंकवादी ढेर रेल हादसे में बचाव कार्य के लिए अब गोताखोर भी लगाए गए सेना के जवानों को राहत अभियान के लिए हरदा भेजा गया रेलवे ने दिए हरदा में हुए दोहरे ट्रेन हादसे की जांच के आदेश हरदा में ट्रेन हादसे के बाद वारणसी में परिजनों मे बढ़ी बेचैनी 'पटरी पर बाढ़ का पानी आने के कारण ट्रेनें पटरी से उतरीं' तस्वीरों में देखें मध्य प्रदेश के हरदा में हुआ दोहरा ट्रेन हादसा मोदी ने मध्य प्रदेश में दोहरे ट्रेन हादसे पर दुख व्यक्त किया ये हैं साल 2000 से अब तक भारत में हुए बड़े रेल हादसे PHOTOS: मध्य प्रदेश ट्रेन हादसे में मरने वालों की संख्या 28 हुई, 250 लोग बचाए गए
दिमाग तेज करना हो तो रोज खाएं बैक्टीरिया
लंदन, एजेंसी First Published:28-05-2010 07:55:15 PMLast Updated:28-05-2010 07:55:31 PM
Image Loading

जनाब, दिमाग को तंदुरूस्त रखना है तो जमकर खाइए बैक्टीरिया। एक नए अध्ययन में यह बात सामने आई है। न्यू साइंटिस्ट में प्रकाशित इस अध्ययन को अंजाम देने वाले वैज्ञानिकों ने इसके लिए चूहों पर प्रयोग किया।

उन्होंने चूहों को मूंगफली खाने को दी पर उस मूंगफली के साथ मिटटी में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को भी खुराक में दिया।
   
मूंगफली के साथ बैक्टीरिया का निवाला लेने वाले वे चूहे चक्रव्यूह में दौड़ना आसानी से और दोगुने रफ्तार से सीख गए। उन्हें इस दौड़ में मजा भी आया।

न्यूयॉर्क के सेज कॉलेज के डोरोथी मैथ्यूज की अगुवाई में दल ने पाया कि बैक्टीरिया खाने वाले चूहे सामान्य मूंगफली खाने वाले चूहों की तुलना में चक्रव्यूह में दोगुने रफ्तार से भागे।

मैथ्यूज ने बताया कि इस साबित करता है कि उन्होंने चक्रव्यूह को तोड़ना तेजी से सीखा। चक्रव्यूह में चूहों की यह दौड़ छह हफ्तों तक 18 बार चली और हर बार बैक्टीरिया खाने वाले चूहे आगे रहे।

वैज्ञानिकों के अनुसार ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि बैक्टीरिया ने उनके प्रतिरक्षा प्रणाली को प्रभावित किया था। इस बारे में ऐसे ही नतीजों वाला एक अध्ययन 2007 में भी हो चुका है।

मैथ्यूज ने कहा कि बैक्टीरिया सीखने की प्रक्रिया को तेज करते हैं क्योंकि उनका असर दिमाग के एक हिस्से हिप्पोकैम्पस पर पड़ता है जो याददाश्त के लिए जवाबदेह होते हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingतेंदुलकर ने मलिंगा की तारीफों के पुल बांधे
तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की तारीफ करते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज कहा कि श्रीलंका का यह क्रिकेटर विश्व स्तरीय गेंदबाज है और उनके साथ इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना शानदार अनुभव रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।