मंगलवार, 26 मई, 2015 | 21:08 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    दिल्ली विधानसभा: विशेष सत्र में हंगामा, बीजेपी विधायक को बाहर निकाला  यूपी: गर्मी का कहर जारी, राहत के आसार नहीं इस रेस्टोरेंट में आने वालों को बनना पड़ता है कैदी प्रतापगढ़ में रोडवेज के कैशियर की हत्या कर साढ़े सात लाख की लूट  सलमान को दुबई जाने के लिए कोर्ट से मिली अनुमति वसीम रिजवी शिया वक्फ बोर्ड के फिर चेयरमैन साहित्यिक चोरी के आरोप में 'पीके' के निर्माताओं को नोटिस 9 अधिकारियों के तबादले के बाद एलजी से मिले केजरीवाल  कांग्रेस के दस साल पर भारी भाजपा का एक साल: स्मृति दुनिया कर रही हरमन की तारीफ, किसी ने भेजा कार्ड तो किसी ने फर्नीचर
कार पार्क करने में पुरुषों से बेहतर हैं महिलाएं
लंदन, एजेंसी First Published:30-01-12 04:32 PM
Image Loading

महिलाओं को पुरुषों से बेहतर ड्राइवर तो पहले ही कहा जाता था अब एक नए अध्ययन में यह बात भी साबित हुई है कि गाड़ी को पार्किंग में लगाने के मामले में भी महिलाएं पुरुषों से कहीं बेहतर होती हैं।
   
शोध में पाया गया है कि महिला ड्राइवर पारंपरिक अवधारणा के विपरीत पार्किंग के मामले में जगह तलाशने और कम जगह में भी अच्छे से गाड़ी पार्क करने में पुरुषों के मुकाबले अधिक समझदारी से काम लेती हैं।

यह अलग बात है कि वे गाड़ी पार्क करने में अधिक समय लेती हैं। पार्किंग के मामले में महिलाओं को 20 अंकों में से 13 अंक दिए गए हैं जबकि इसी शोध में इस श्रेणी के लिए पुरुषों को 12 में से 3 अंक दिए गए। डेली टेलीग्राफ में प्रकाशित समाचार में बताया गया है कि शोध के लिए पार्किंग शैली के सात महत्वपूर्ण कारकों को ध्यान में रखा गया था।
   
पेशेवर ड्राइविंग विशेषज्ञ तथा इस शोध की परिकल्पना करने वाले नील बीसोन ने बताया कि इस शोध के नतीजे काफी चौकाने वाले थे। शोध रिपोर्ट कहती है कि मेरे अनुभव में पुरुषों की सीखने की क्षमता हमेशा अच्छी रही है और उन्होंने ड्राइविंग संबंधी कक्षाओं में बेहतर प्रदर्शन किया है। लेकिन यह बहुत संभव है कि महिलाओं ने प्रशिक्षण के दौरान दी गयी सूचनाओं को गहराई से ग्रहण किया हो।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image Loadingधौनी से कप्तानी के गुर सीखे : होल्डर
वेस्टइंडीज की वनडे टीम के युवा कप्तान जैसन होल्डर को लगता है कि चेन्नई सुपरकिंग्स के साथ बिताये गये दिनों में उन्हें किसी और से नहीं बल्कि भारत के सीमित ओवरों की टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी से कप्तानी के गुर सीखने को मिले थे।