रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 06:32 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
अब मस्तिष्क भी रहेगा हमेशा जवान
स्टॉकहोल्म, एजेंसी First Published:29-04-12 04:29 PM
Image Loading

उम्र भले ही बढ़ने से रोकी नहीं जा सकती, लेकिन मस्तिष्क को जवान रखने की युक्ति वैज्ञानिकों ने खोज निकाली है। एक नए अध्ययन के अनुसार मानसिक और शारीरिक रूप से सक्रिय रहकर मस्तिष्क को युवा रखा जा सकता है।

अध्ययन के अनुसार मानसिक और शारीरिक रूप से सक्रिय रहकर मस्तिष्क को युवा रखा जा सकता है। अध्ययन का नेतृत्व करने वाले स्वीडन स्थित यूमिया विश्वविद्यालय के लार्स नायबर्ग ने बताया, कि हालांकि उम्र के बढ़ने के साथ यादाश्त कुछ कमजोर पड़ जाती है, लेकिन कई बुजुर्ग अच्छे से काम करने में सक्षम होते हैं और ऐसा युवा मस्तिष्क की वजह से होता है।

नायबर्ग ने कहा कि शिक्षा आपके मस्तिष्क को नहीं बचा सकती। पीएचडी से लेकर हाई स्कूल छोड़ने वाले लोगों दोनों में ही उम्र बढ़ने पर यादाश्त में कमी देखी गई है।

विश्वविद्यालय के बयान के अनुसार किसी चीज में लगे रहना सफलता का रहस्य है। ऐसे सभी लोग जो विश्वसनीय ढंग से सामाजिक, मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत रहते हैं, वे सभी अपनी उम्र के हिसाब से मस्तिष्क से बेहतर काम करते हैं।

नायबर्ग ने बताया कि इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि शारीरिक और मानसिक रूप से सक्रिय रहना मस्तिष्क की देखभाल का तरीका है।
 
 
 
 
टिप्पणियाँ