Image Loading small children even understand false things says study - LiveHindustan.com
शुक्रवार, 09 दिसम्बर, 2016 | 12:58 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • INDvsENG: इंग्लैंड की पारी 400 रनों पर सिमटी, अश्विन ने छह और जडेजा ने लिए चार विकेट
  • अभी कितनी ट्रेनें देरी से चल रही हैं और कितनी हैं रद्द। ताजा हाल जानने के लिए...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा 9वां झटका, बॉल को अश्विन ने किया OUT
  • नोटबंदी भारत का सबसे बड़ा घोटाला है, सरकार चर्चा से घबरा रही हैः राहुल गांधी
  • नोटबंदी को लेकर विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा की कार्यवाही 11.30 बजे तक के लिए...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा 8वां झटका, राशिद को जडेजा ने किया OUT
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा सातवां झटका, वोक्स को जडेजा ने किया OUT
  • सेना को विवाद में घसीटने से दुखी रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने प.बंगाल की...
  • INDvsENG: इंग्लैंड को लगा छठा झटका, स्टोक्स को अश्विन ने किया OUT
  • मौसम अलर्टः उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड। दिल्ली-एनसीआर, लखनऊ, पटना, रांची और...
  • मिथुन राशिवालों की तरक्की के मार्ग खुलेंगे, आय बढ़ेगी। क्या कहते हैं आपके...
  • ये TIPS आजमाएंगे तो तुरंत दूर होगी एसिडिटी, जानें ये 5 जरूरी बातें
  • घने कोहरे के कारण 67 ट्रेनें लेट, 30 ट्रेनों के समय में बदलाव और दो ट्रेनें रद्द की...
  • GOOD MORNING: अब कर्मचारियों को वेतन से PF कटवाना जरूरी नहीं होगा, देश-दुनिया की बड़ी...

छोटे बच्चे भी पहचानते हैं झूठ, एक स्टडी में हुआ खुलासा

सिंगापुर| एजेंसियां First Published:01-12-2016 09:41:13 PMLast Updated:01-12-2016 09:41:13 PM
छोटे बच्चे भी पहचानते हैं झूठ, एक स्टडी में हुआ खुलासा

छोटे बच्चे भी दूसरे की झूठी बातों को समझ सकते हैं। एक नए अध्ययन के अनुसार महज ढाई साल के बच्चे भी लोगों के झूठ, धोखेबाजी और बहानेबाजी को पहचान लेते हैं।

शोधकर्ताओं ने 140 से ज्यादा बच्चों की क्षमताओं का परीक्षण करने के बाद यह दावा किया है। उन्होंने बच्चों की इस क्षमता का पता लगाने के लिए एक विशेष तरीका अपनाया।

उन्होंने बच्चों के सामने कुछ गलत धारणाएं रखीं। उन्हें अनुमान था कि इसे समझने के लिए बच्चों का ज्यादा विकसित होना जरूरी था। साथ ही उन्हें कई सूचनाओं की जरूरत होगी। लेकिन नतीजों ने दिखाया कि बच्चे पूर्वानुमान के विपरीत ज्यादा विकसित साबित हुए। उन्होंने प्रस्तुत की गई धारणाओं में की गई फेरबदल को पहचान लिया। हालांकि वे इसे प्रदर्शित कर पाने में सक्षम नहीं थे।

सिंगापुर की नानयांग टेक्नोलॉजिकल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ता सेटोह पी पी ने कहा, युवा बच्चों के माता-पिता और शिक्षकों को इस बारे में जागरूक रहना चाहिए कि बच्चे झूठ को पकड़ लेते हैं।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: small children even understand false things says study
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें