class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छत्तीसगढ़ की कंपनी बनाएगी झकरकटी पुल

छत्तीसगढ़ की कंपनी बनाएगी झकरकटी पुल

झकरकटी पुल का चौड़ीकरण छत्तीसगढ़ की कंपनी करेगी। गुरुवार को टेंडर की फाइनेंसियल बिड खुली जिसमें सबसे बेहतर प्लान छत्तीसगढ़ की कंपनी का पाया गया। वहीं झकरकटी बस अड्डे की सर्विस रोड का लेआउट प्लान भी तैयार हो गया है। इसी हफ्ते निर्माण कार्य शुरू हो जाएगा।

पुल के चौड़ीकरण के लिए पीडब्लूडी के हाईवे विंग ने टेंडर निकाला था। इसमें 50 करोड़ का एस्टीमेट रखा गया था। इसके सापेक्ष छत्तीसगढ़ के बिलासपुर स्थित बृजेश अग्रवाल कांस्ट्रक्शन कंपनी ने सबसे कम बजट की निविदा डालते हुए अपना एस्टीमेट प्लान समेत दिया था। गुरुवार को हाईवे विंग के दफ्तर में छह सदस्यीय निविदा कमेटी के सामने फाइनेंसियल बिड खोली गई। घंटों मंथन के बाद इसी कंपनी को बेहतर पाया गया। कमेटी ने इसी टेंडर पर स्वीकृति दे दी।

लखनऊ से आने वाली बसों की अलग राह

पीडब्लूडी ने बस अड्डे की सर्विस रोड का लेआउट तैयार किया है उसमें लखनऊ से आने वाली बसों के लिए आसान राह हो जाएगी। बसें टाटमिल चौराहे से सीधे झकरकटी पुल जाने की बजाए चौराहे से ही रेलवे की जमीन से होकर बस अड्डे तक पहुंच जाएंगी। इससे जाम से निजात मिलेगी। पीडब्लूडी ने जमीन लेने के लिए जो पत्र भेजा था उसे रेलवे ने मंडल मुख्यालय भेज दिया है। इसे अगले माह तक स्वीकृति मिलने की उम्मीद है। हालांकि अफीम कोठी से आने वाली बसों को बस अड्डा पहुंचने के लिए दाहिने मुड़ना होगा। पीडब्लूडी ने यहां भी जाम न लगे, इसका विकल्प बनाया है।

अब रोडवेज से जमीन लेगा पीडब्लूडी

पुल चौड़ीकरण के लिए अब रोडवेज से जमीन लेने की कवायद तेज कर दी गई है। यूपीएसआरटीसी ने जो आपत्ति जताई थी उसे पीडब्लूडी पहले ही खारिज कर चुका है। हाईवे विंग के एक्सईएन वीके श्रीवास्तव ने बताया कि अगली बैठक कमिश्नर की अध्यक्षता में होगी जिसमें रोडवेज की जमीन मुख्य बिंदु है। बताते चलें कि रोडवेज ने पहले कहा था कि पुल का चौड़ीकरण करते हुए इसे टाटमिल के आगे तक ले जाया जाए। इस पर पीडब्लूडी ने कहा था कि यह संभव नहीं है क्योंकि सैकड़ों मकान और कांपलेक्स ढहाने पड़ेंगे जो जनहित में नहीं होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chhattisgarh company will build jhakarkti bridge