class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व सांसद ने भीड़ जुटाकर भाजपा के दूसरे गुट को दी चुनौती

तिर्वा के रॉयल गार्डेन में भाजपा की एक बैठक मे पूर्व सांसद रामबख्श वर्मा ने भीड़ जुटाकर अपने आपको लोधी समुदाय का नेता साबित करने का प्रयास किया। साथ ही भाजपा के दूसरे गुट को कड़ी चुनौती भी दी है। उन्होने परोक्ष रूप से नवनियुक्त भाजयुमो प्रदेश अध्यक्ष पर कई सवाल उठाए। बैठक में कई नेताओ ने पूर्व सांसद को राष्ट्रीय अध्यक्ष के कार्यक्रम मे अपमानित करने का मुद्दा उठाया।

गौरतलब है कि 13 नवम्बर को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के कार्यक्रम में पूर्व सांसद रामबख्श वर्मा को कुछ प्रभावशाली भाजपा नेताओं ने अपमानित कर मंच पर चढ़ने नहीं दिया था। जिस पर भाजपा पार्टी में अन्दर ही अन्दर आग सुलगने लगी थी। गुरुवार को कस्बे के रॉयल गार्डेन मे आयोजित बैठक में रामबख्शके समर्थकों ने जहां एक ओर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जमकर तारीफ की तो वहीं पार्टी के संगठन पर उंगली भी उठाई। इस बैठक मे समर्थकों की भारी भीड़ जुटी, जिसे देखकर लगा कि पूर्व सांसद रामबख्श वर्मा का उमर्दा क्षेत्र मे जनाधार टूटा नहीं है। उन्होंने संगठन पर उंगली उठाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को सोने का मुकुट पहनाने वालों पर संगठन ने क्यों नही कार्रवाई की। संगठन पर आरोप लगाया कि अलोकतांत्रिक एवं मनमाने तरीके से चलाया जा रहा संगठन पार्टी को कमजोर कर रहा है। पूर्व विधानसभा प्रत्याशी आलोक वर्मा ने कहा कि परदे के पीछे से भाजपा एवं सपा की दुरभि संधि करने वालों को समझना पड़ेगा। सांसद डिम्पल यादव को निर्विरोध जिताने वाले भाजपा के नेताओ पर संगठन ने क्यों नहीं कार्रवाई की। बैठक मे पं. विश्वनाथ दुबे, राधेश्याम वर्मा, राकेश तिवारी, रामऔतार वर्मा, ओमकार वर्मा, अजय दुबे, श्यामा प्रसाद, रामस्वरूप ने अपने शब्दबाणों से कई लोगों पर परोक्ष रुप से आरोप लगाए। इस मौके पर शैलेश मिश्रा, अनिल गुप्ता, अजब सिंह यादव, प्रहलाद सिंह, रामचन्द्र शाक्य, वीरबहादुर, गोपाल त्रिपाठी सहित दर्जनो समर्थक मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: former BJP MP crowd scintillating challenge The second group