class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरायकेला-खरसावां जिले में 20 कस्तूरबाकर्मियों को नोटिस जारी

सरायकेला-खरसावां जिले के 9 कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की 20 शिक्षिकाओं और कर्मचारियों को जिला शिक्षक अधीक्षक फूलमनी खालको ने बुधवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया। 24 घंटे में नोटिस का जवाब देने का आदेश दिया है। जवाब नहीं देने पर बर्खास्तगी की कार्रवाई होगी। डीएसई यह कार्रवाई झारखंड सरकार के आदेश की अवहेलना के मद्देनजर की हैं।

सरायकेला-खरसावां के नौ कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालयों की शिक्षिकाएं अपनी सेवा नियमित करने और मानदेय की राशि बढ़ाने की मांग को लेकर 13 अक्तूबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं। जिस कारण 2831 छात्राओं के पठन-पाठन पर काफी असर पड़ा है। दशहरा की छुट्टी होने की वजह से विद्यालय की सभी छात्राएं घर चली गई थीं। अब छुट्टी खत्म होने के बाद भी हड़ताल की जानकारी होने के कारण विद्यालयों में शिक्षिकाओं के प्रतिनियोजन के बाद भी छात्राएं वापस नहीं आ रही हैं। लिहाजा, विद्यालय का पठन-पाठन का कार्य ठप है। 

सरकार ने हड़ताल खत्म करने की दी थी चेतावनी
शिक्षिकाओं की हड़ताल खत्म कराने के लिए सरकार ने मंगलवार दोपहपर बारह बजे तक की चेतावनी दी थी। तय समय में हड़ताल नहीं तोड़ने वाली शिक्षिकाओं और शिक्षकेत्तर कर्मचारियों पर कार्रवाई की चेतावनी दी थी। डीएसई खालको ने कहा कि शिक्षिकाओं और कर्मचारियों को नोटिस जारी किया गया है। चौबीस घंटे में जवाब नहीं मिला तो बर्खास्तगी की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:seraikela kharsawan district 20 kasturba employee notices
From around the web