Image Loading another home destroyed by three divorces in deoghar - Hindustan
शनिवार, 21 जनवरी, 2017 | 05:34 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • पढे़ं भारतीय समाज में औरतों के खिलाफ जारी हिंसा पर JNU की प्रोफेसर जयति घोष का...
  • राशिफलः मिथुन राशिवालों को मित्र की मदद से नौकरी के अवसर मिल सकते हैं,...

तलाक - तलाक - तलाक ! झारखंड में तीन तलाक ने एक और घर उजाड़ा

सारवां। देवघर First Published:19-10-2016 11:41:43 AMLast Updated:19-10-2016 11:41:43 AM
तलाक - तलाक - तलाक ! झारखंड में तीन तलाक ने एक और घर उजाड़ा

झारखंड के देवघर जिला के सारवां प्रखंड मोड़ में मंगलवार को तीन तलाक के नियम ने एक परिवार को उजाड़ दिया। सारठ थानांतर्गत बगडबरा गांव के एक निवासी की 22 वर्षीया बेटी सलमा (काल्पनिक) का तलाक हो गया। पंचायत में दिए गए तलाक के बाद गोद में 2 वर्ष का बच्चा लिए सलमा फूट- फूटकर रोती रही। पूछने पर बताया कि उसके पति ने उसे तलाक दे दिया है।

इसको लेकर मायके व ससुराल पक्ष के लोग प्रखंड मुख्यालय के समीप मैदान में पंचायत कर रहे हैं। पंचायती में पंचों द्वारा तलाक के कागजात बनाए जाने की प्रक्रिया चल रही है। महिला ने बताया कि उसकी शादी वर्ष 2010 में खगड़ा गांव के जाकिर अंसारी के बेटे जफरूद्दीन अंसारी के साथ हुई थी।

शादी के बाद एक लड़का भी हुआ। महिला के अनुसार इस बीच उसके पति ने चुपके से दूसरी शादी कर ली और अब उसे तलाक दे रहा है। पीड़िता ने बताया कि नियमानुसार उसे अपने गोद का बच्चा उसे सौंपना होगा। यह कहते हुए महिला फिर फफक-फफक कर रोने लगी। बच्चे को देने की बात पर मां की आंखों से आंसू थम ही नहीं रहे थे। रोती बिलखती महिला को देखकर वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई।

स्थानीय लोग कह रहे थे कोई भी मजहब किसी को कष्ट या वेदना देना नहीं सिखाता। किसी शब्द को बार-बार बोलने से रिश्ते में दरार आ जाए उसपर एक बार विचार जरूर होना चाहिए। मासूम को गोद लिए तलाक के नाम पर बिलख रही महिला की वेदना व क्रंदन लोगों के लिए असहज हो रहा था। क्षणिक गुस्से में आकर परिवार टूट जाना अपनाने योग्य धर्म पर विचार की चर्चा वहां हो रही थी।

क्या कहा पंच ने : महिला के ससुराल खगड़ा से पंच के रूप में पंचायती के लिए पहुंचे उलफत अंसारी से जब इस संबंध में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि उन्हें इस संबंध में कोई विशेष जानकारी नहीं है। गांव में बताया गया कि फैसला होना है इसलिए चले आए हैं। मौके पर उपस्थित अन्य ग्रामीण खिसक गए।

क्या कहते हैं लड़की के चाचा : महिला के चाचा का मानना है कि जब लड़के ने दूसरी शादी कर ली उसके घर में उनकी भतीजी कैसे जीवन निर्वाह करेगी। बच्चे के लिए तकलीफ ज्यादा हो रहा है।

क्या कहते हैं अधिकार: एसडीपीओ दीपक कुमार पांडेय का कहना है कि तलाक दिए जाने के संबंध में सारवां थानेदार ने कोई सूचना नहीं दी है। सूचना मिलती है तो नियमपूर्वक कार्रवाई होगी।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: another home destroyed by three divorces in deoghar
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Rupees
क्रिकेट स्कोरबोर्ड