class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

झारखंड में 30 आपराधिक गिरोह कर रहे काम : एडीजी

कोर्ट परिसर में हुई उपेंद्र सिंह की हत्या की जांच करने पहुंचे सीआईडी के अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) अजय कुमार सिंह ने बताया कि झारखंड में 30 आपराधिक गिरोह ऐसे हैं, जिससे जुड़े लोगों की सूची तैयार की गई है। हर जिले को वह सूची दे दी गई है ताकि उसके आधार पर गिरोह के संचालकों पर कार्रवाई की जा सके।

उपेंद्र की हत्या प्रतिद्वंद्विता का परिणाम : उन्होंने बताया कि उपेंद्र की हत्या दो गिरोहों की प्रतिद्वंद्विता का परिणाम है। उन्होंने बताया कि जमशेदपुर पुलिस को अक्तूबर में अखिलेश सिंह और उपेंद्र सिंह के गिरोह में शामिल लोगों की सूची दी गई थी। लेकिन, अखिलेश सिंह गिरोह ने इस बार नए लोगों का इस्तेमाल किया। अखिलेश अपने पैसों का इस्तेमाल कर अपराध के लिए नई बहाली करता है।

अपराधियों का आर्थिक स्रोत तोड़ना जरूरी : उन्होंने बताया कि आपराधिक गिरोहों का आर्थिक स्रोत तोड़ना आवश्यक है और इस दिशा में काम चल रहा है। अखिलेश सिंह का मामला प्रवर्तन निदेशालय में है। उसके बारे में भी पता लगाया जा रहा है कि वह मामला किस स्थिति में है। उस मामले पर जोर दिया जाएगा ताकि अखिलेश सिंह द्वारा गिरोह चलाने के दौरान अर्जित की गई संपत्ति पर कार्रवाई की जाएगी।

उपेंद्र की हत्या में चार लोग शामिल : एडीजी ने बताया कि उपेंद्र की हत्या में चार लोग शामिल थे, जिनपर एफआईआर की गई है। अब देखना है कि इन चारों के साथ चेन में कितने लोग जुड़ते हैं। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:30 criminal gangs in the Jharkhand : ADG