class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नासा के वैज्ञानिकों ने खोजा तारे निगलने वाला ब्लैक होल

नासा के वैज्ञानिकों ने खोजा तारे निगलने वाला ब्लैक होल

नासा के वैज्ञानिकों ने खगोल विज्ञान की दुनिया में एक अनोखी घटना के बारे में पता लगाया है। खगोलविदों के मुताबिक 30 करोड़ प्रकाश वर्ष दूर स्थित एक ब्लैकहोल अपने नजदीकी तारे को निगल रहा है। दरअसल पहले तो ब्लैक होल ने अपने पास मौजूद इस तारे को नष्ट कर दिया। अब इस तारे के अवशेष धीरे-धीरे इस ब्लैकहोल में समा रहे हैं। जल्द ही यह पूरी तरह से ब्लैकहोल में समा जाएगा। खगोल विज्ञानियों के मुताबिक ऐसी दुर्लभ घटनाएं बहुत कम ही देखी जाती हैं। नासा के खगोगलविदों ने अपने शोध में यह भी पाया कि पहले इस तारे से पराबैंगनी किरणें निकल रही थीं लेकिन जैसे-जैसे यह ब्लैकहोल में समा रहा है, इससे एक्स रे उत्सर्जित होने लगीं। 

जानिए ब्लैक होल के बारे में
ब्लैक होल कोई छेद नहीं है। यह मरे हुए तारों के अवशेष हैं। करोड़ों, अरबों साल बाद किसी तारे की जिंदगी खत्म होती है और ब्लैकहोल का जन्म होता है। यह तेज और चमकते तारे के जीवन का आखिरी समय होता है और तब यह सुपरनोवा कहलाता है। तारे में हुआ विशाल धमाका उसे तबाह कर देता है और उसके पदार्थ अंतरिक्ष में फैल जाते हैं। कई वैज्ञानिकों के मुताबिक ब्लैक होल का गुरुत्वाकर्षण बल इतना अधिक होता है कि प्रकाश भी इससे नहीं बच निकल पाता। ये देखे नहीं जा सकते। वैज्ञानिक इनके द्रव्यमान का पता लगा सकते हैं। हालांकि हाल ही में मशहूर वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग ने दावा किया था कि ब्लैक होल से बच निकलना संभव है। इससे पहले हॉकिंग की यह मान्यता थी कि ब्लैकहोल में समा गई जानकारी खो जाती है लेकिन उन्होंने हाल ही में दावा किया है कि ब्लैक होल के बारे में समा गई जानकारियों के बारे में फिर से पता लगाना संभव है।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:what a meal this black hole is choking on stardust
From around the web