Image Loading pakistan more than 100 killed in isis-claimed attack at sindhs shahbaz qalandar shrine - Hindustan
गुरुवार, 23 फरवरी, 2017 | 10:29 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • यूपी चुनावः चौथे चरण में 53 सीटों के लिए सुबह नौ बजे तक 10.23% मतदान, पल-पल की अपेडट के...
  • शेयर मार्केटः मजबूती के साथ खुले बाजार, 48 अंकों की तेजी के साथ सेंसेक्स 28,912 पर,...
  • #IndiavsAustralia #PuneTest ऑस्ट्रेलिया का टॉस जीत बल्लेबाजी का फैसला
  • शोपियां में आतंकी हमला, सेना के 3 जवान शहीद, 1 महिला की भी मौत। पूरी खबर पढ़ने के...
  • आज के 'हिन्दुस्तान' में पढ़ें बिमटेक के डायरेक्टर हरिवंश चतुर्वेदी का लेखः...
  • दिल और दिमाग दोनों को ठंडा रखता है कद्दू, पढ़ें इससे होने वाले 6 फायदे
  • आज का हिन्दुस्तान अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें।
  • राशिफलः वृश्चिक राशिवालों के आत्मविश्वास में वृद्धि होगी, मित्र के सहयोग से...
  • यूपी चुनावः चौथे चरण में 53 सीटों पर मतदान शुरू, 680 उम्मीदवार आजमा रहे हैं किस्मत

PAK: पिछले 12 सालों में आतंकी घटनाओं में मारे गए 28000 से ज्यादा लोग

कराची, लाइव हिन्दुस्तान टीम। First Published:17-02-2017 06:43:44 AMLast Updated:17-02-2017 11:24:48 AM

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में स्थित लाल शाहबाज कलंदर दरगाह में गुरुवार को हुए आत्मघाती बम धमाके में 76 लोगों की जान चली गई जबकि करीब 250 लोग घायल हुए हैं। साउथ एशिया टेररिज्म पोर्टल के मुताबिक 2003 से लेकर 5 फरवरी 2017 तक पाकिस्तान में आतंकी हमलों में करीब 28201 लोगों की मौत हुई हैं। इसमें सुरक्षा बलों और पुलिस के 6674 जवान भी शामिल थे। इसके अलावा इसी दौरान पाक ने 33363 आतंकियों को मार गिराने में सफलता पाई है।

ग्लोबल टेरिज्म इंडेक्स की एक रिपोर्ट के अनुसार 2015 में जिन पांच देशों में आतंकवाद का सबसे ज्यादा असर रहा उनमें इराक, अफगानिस्तान, नाइजीरिया के अलावा पाकिस्तान और सीरिया शामिल हैं। 2015 में हुई कुल आतंकवाद से जुड़ी मौतों में से 72 फीसदी इन्हीं पांच देशों में हुईं। नेशनल बॉम्ब डाटा सेंटर के द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक ब्लास्ट की घटनाओं में पाकिस्तान का विश्व में दूसरा नंबर है। 2016 में पाकिस्तान में कुल 161 बम ब्लास्ट की घटनाएं दर्ज हुई।

आईएस के कारण विश्व भर का ध्यान सीरिया और इराक पर रहा लेकिन तालिबान लड़ाकों के कारण अफगानिस्तान में सबसे ज्यादा हिंसा दर्ज हुई। पाकिस्तान में तालिबान और आईएस दोनों की जड़ें बेहद मजबूत है। 2014 के मुकाबले 2015 में पाक में आतंकी घटनाओं के मामले में करीब 13 फीसदी कमी दर्ज की गई। हालांकि इस साल के शुरुआत से ही पाकिस्तान में बम धमाकों की घटनाएं हो रही हैं। 

हाल ही में बुधवार को पाकिस्तान के कबायली इलाके में तालिबान के दो आत्मघाती हमलावरों ने एक सरकारी परिसर में खुद को उड़ाया था। जिसमें 8 लोगों की मौत हुई थी। इससे एक दिन पहले ही मंगलवार को लाहौर में हुए बम धमाके में 16 लोग मारे गए थे।

अगली स्लाइड में पढ़िए पाकिस्तान की सूफी दरगाह में आईएस का आत्मघाती हमला

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: pakistan more than 100 killed in isis-claimed attack at sindhs shahbaz qalandar shrine
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
Jharkhand Board Result 2016
क्रिकेट स्कोरबोर्ड