Image Loading isis terrorist gave machine guns and explosive to their brides in dowry - LiveHindustan.com
मंगलवार, 27 सितम्बर, 2016 | 03:59 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • झारखंड: खूंटी के अड़की में नक्सलियों ने की तीन लोगों की हत्या, दो अन्य घायल
  • हमने दोस्ती चाही, पाकिस्तान ने उरी और पठानकोट दिया: सुषमा स्वराज
  • पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को सुषमा का जवाब, जिनके घर शीशे के हों वो...
  • सयुंक्त राष्ट्र में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने हिंदी में भाषण शुरू किया
  • अमेरिका: हयूस्टन के एक मॉल में गोलीबारी, कई लोग घायल, संदिग्ध मारा गया: अमेरिकी...
  • सिंधु जल समझौते पर सख्त हुई सरकार, पाकिस्तान को पानी रोका जा सकता है: TV Reports
  • सेंसेक्स 373.94 अंकों की गिरावट के साथ 28294.28 पर हुआ बंद
  • जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में ग्रेनेड हमला, CRPF के पांच जवान घायल
  • सीतापुर में रोड शो के दौरान कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर जूता फेंका गया।
  • कानपुर टेस्ट जीत भारत ने पाकिस्तान से छीना नंबर-1 का ताज
  • KANPUR TEST: भारत ने जीता 500वां टेस्ट मैच, अश्विन ने झटके छह विकेट
  • 'ANTI-INDIAN TWEETS' करने पर PAK एक्टर मार्क अनवर को ब्रिटिश सीरियल से बाहर कर दिया गया। ऐसी ही...
  • इसरो का बड़ा मिशन: श्रीहरिकोटा से PSLV-35 आठ उपग्रहों को लेकर अंतरिक्ष के लिए हुआ...
  • सुबह की शुरुआत करने से पहले पढ़िए अपना भविष्यफल, जानें आज का दिन आपके लिए कैसा...
  • हिन्दुस्तान सुविचार: मैं ऐसे धर्म को मानता हूँ जो स्वतंत्रता , समानता और ...

ISIS के आतंकी दहेज में दुल्हनों को दे रहें हैं मशीनगन और विस्फोटक

नई दिल्ली। हिन्दुस्तान टीम First Published:23-09-2016 08:06:39 PMLast Updated:23-09-2016 08:08:43 PM
ISIS के आतंकी दहेज में दुल्हनों को दे रहें हैं मशीनगन और विस्फोटक

इस्लामिक स्टेट (आईएस) के आतंकी अपनी दुल्हनों को दहेज में असामान्य चीजों की पेशकश कर रहे हैं। लीबिया में जिहादियों के साथ जंग कर रहे सरकारी सुरक्षा बलों ने बताया कि आतंकी दहेज के रूप में दुल्हनों को मशीनगन, ग्रेनेड और विस्फोटक बेल्ट दे रहे हैं।

लीबिया सरकार के साथ मित्र देशों की सेनाओं ने सिरते से आईएस को खदेड़ने के लिए अभियान चलाया। महीनों चले युद्ध के दौरान कब्जा की गई इमारतों की तलाशी के बाद मिले दस्तावेजों से यह खुलासा हुआ है। कहा जा रहा है कि ये दस्तावेज आतंकियों के न्यायिक और शिकायत विभाग के थे। सरकार समर्थक बलों के फेसबुक पेज पर इसकी जानकारी डाली गई है। इसके अनुसार, आतंकी शादी के अनुबंध और तलाक के फैसले बिना किसी असली नाम या व्यक्तिगत जानकारी दिए बिना करते हैं।

इसका एक उदाहरण देते हुए बताया गया कि 1977 में ट्यूनीशिया में पैदा हुए अबू मंसूर की शादी 31 दिसंबर 2015 को नाइजीरियाई मूल की मरियम से हुई। इस्लामिक कानून के विपरीत मंसूर ने कोई दहेज नहीं दिया। हालांकि उसने शपथ ली कि मौत होने या शादी टूटने पर दहेज के रूप में उसे एक विस्फोटक बेल्ट दी जाएगी। नाइजीरिया की रहने वाली फातिमा से वादा किया गया कि तलाक होने या उसके पति मालियान अबू सईद की मौत पर उसे कलाश्निकोव (एके-47) राइफल दी जाएगी।

आईएस आतंकियों ने जून 2015 को सिरते पर कब्जा कर लिया था और यहां अपना आतंकी राज्य स्थापित किया था। लीबिया की सरकार ने सहयोगी देशों की सेनाओं के साथ इसी साल 12 मई को पूर्व सैन्य तानाशाह गद्दाफी के गृह स्थान पर कब्जा की मुहिम शुरू की थी।

लाइव हिन्दुस्तान जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: isis terrorist gave machine guns and explosive to their brides in dowry
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें