Image Loading china government media beijing arunachal pradesh india - Hindustan
मंगलवार, 25 अप्रैल, 2017 | 00:33 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • IPL10 #MIvRPS: पुणे ने लगाई जीत की हैट्रिक, मुंबई का विजयरथ रोक 3 रन से हराया
  • IPL10 #MIvRPS: 15 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर 113/4, क्रीज पर रोहित-पोलार्ड। लाइव कमेंट्री और...
  • IPL10 #MIvRPS: 5 ओवर के बाद मुंबई का स्कोर 35/1, बटलर हुए आउट। लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के...
  • IPL10 #MIvRPS: पुणे ने मुंबई इंडियंस के सामने रखा 161 रनों का टारगेट
  • आपकी अंकराशि: 6 मूलांक वाले कल न लें जोखिम भरे मामलों में निर्णय, जानिए कैसा रहेगा...
  • प्राइम टाइम न्यूज़: पढ़े देश और विदेश की आज की 10 बड़ी खबरें
  • IPL10 #MIvRPS: 10 ओवर के बाद पुणे का स्कोर 84/1, रहाणे हुए आउट। लाइव कमेंट्री और स्कोरकार्ड के...
  • धर्म नक्षत्र: फेंगशुई TIPS: घर को सजाएं इन फूलों से, भरा रहेगा घर पैसों से, पढ़ें...
  • IPL10 MIvRPS: 6 ओवर के बाद पुणे का स्कोर 48/0, क्रीज पर रहाणे-त्रिपाठी। लाइव कमेंट्री और...
  • रिश्ते में दरार: सलमान-यूलिया के बीच बड़ा झगड़ा, वजह जान चौंक जाएंगे, यहां पढ़े...
  • IPL10 #MIvRPS: मुंबई ने जीता टॉस, पहले फील्डिंग करने का लिया फैसला
  • हिन्दुस्तान Jobs: देना बैंक में भर्ती होंगे 16 सिक्योरिटी मैनेजर, सैलरी 45,950 तक, पढ़ें...
  • SC का आदेश: यूपी में हर साल 30 हजार कांस्टेबल की हो भर्ती, पढ़ें राज्यों से अब तक की 10...
  • छत्तीसगढ़: नक्सलियों के साथ हुए एनकाउंटर में CRPF के 11 जवान शहीद
  • सुप्रीम कोर्ट ने यूपी में 3,200 सब इंस्पेक्टर व 30000 कांस्टेबल हर साल भर्ती करने का...

चीन की धमकीः दलाई लामा के कारण भारत को चुकानी होगी भारी कीमत

बीजिंग, एजेंसी First Published:21-04-2017 04:03:23 PMLast Updated:21-04-2017 07:21:33 PM
चीन की धमकीः दलाई लामा के कारण भारत को चुकानी होगी भारी कीमत

चीन के सरकारी मीडिया ने बीजिंग द्वारा अरुणाचल प्रदेश के छह स्थानों का नाम रखने पर भारत की प्रतिक्रिया को
बेतुका कहकर खारिज करते हुए चेताया है कि अगर भारत ने दलाई लामा का तुच्छ खेल खेलना जारी रखा तो उसे
बहुत भारी कीमत चुकानी होगी।

सरकारी ग्लोबल टाइम्स में प्रकाशित एक लेख में इन आरोपों को बेतुकी टिप्पणी करार दिया गया है कि चीन के
लिए यह मुर्खतापूर्ण है कि वह विभिन्न काउंटियों के नाम नहीं रख पाया है जबकि उन्हें अरुणाचल प्रदेश के छह
स्थानों पर गढ़ रहा है।

भारत खेल रहा है दलाई कार्ड, चीन के साथ क्षेत्रीय विवाद बदतर हुआ शीर्षक से छपे लेख में कहा गया है कि भारत
को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए कि क्यों चीन ने इस बार दक्षिण तिब्बत में मानकीकत नामों का ऐलान
किया।

दैनिक कहता है कि दलाई लामा का कार्ड खेलना नई दिल्ली के लिए कभी भी अक्लमंदी भरा चयन नहीं रहा है।
दैनिक ने कहा है, अगर भारत यह तुच्छ खेल जारी रखना चाहता है तो यह इसके लिए सिर्फ भारी कीमत चुकाने के
साथ ही खत्म होगा।

उसमें कहा गया है, दक्षिण तिब्बत ऐतिहासिक रूप से चीन का हिस्सा रहा है और वहां के नाम स्थानीय जातीय
संस्कृति का हिस्सा हैं। चीनी सरकार के लिए स्थानों के मानकीकत नाम रखना जायज है। चीन दावा करता है कि
अरुणाचल प्रदेश दक्षिण तिब्बत है।

चीन ने 19 अप्रैल को ऐलान किया था कि उसने भारत के पूर्वोत्तरी राज्य के छह स्थानों को आधिकारिक नाम दिया है
और उकसावे वाले कदम को वैध कार्रवाई करार दिया था। चीन का यह कदम, दलाई लामा के सीमावर्ती राज्य की
यात्रा को लेकर बीजिंग द्वारा भारत को कड़ा विरोध जताने के कुछ दिनों बाद आया है।

राजनाथ की अपीलः कश्मीरियों को समझें भाई, सभी राज्य दें सुरक्षा

आधार पर सवाल: SC ने केंद्र से पूछा- बताएं आधार कार्ड अनिवार्य कैसे?

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: china government media beijing arunachal pradesh india
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
संबंधित ख़बरें