class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दावा: पुतिन के इशारे पर अमेरिकी चुनाव में गड़बड़ी हुई

दावा: पुतिन के इशारे पर अमेरिकी चुनाव में गड़बड़ी हुई

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में रूस की ओर से गड़बड़ी को लेकर गुरुवार को एक नया दावा किया गया। रॉयटर्स की विशेष रिपोर्ट में दावा किया गया कि रूसी राष्ट्रपति व्लादीमीर पुतिन से जुड़े सरकारी थिंक टैंक ने चुनाव को डोनाल्ड ट्रंप की ओर झुकाव बढ़ाने का खाका तैयार किया था। 

अमेरिकी प्रशासन के तीन मौजूदा और चार सेवानिवृत्त खुफिया अफसरों ने कहा है कि रूस की कोशिश थी कि अमेरिकी राजनीतिक व्यवस्था के प्रति जनता के अविश्वास को बढ़ाया जाए, ताकि गैर राजनीतिक छवि वाले ट्रंप को लाभ मिल सके। अधिकारियों का कहना है कि थिंकटैंक के दस्तावेजों में चुनाव को प्रभावित करने के लिए हैकिंग, भ्रामक खबरों का पूरा खाका खींचा गया और उसके असर के तर्क भी दिए गए हैं। मॉस्को स्थित रसियन इंस्टीट्यूट फॉर स्ट्रैटजिक स्टडीज ने यह दस्तावेज तैयार किया था। 

इस थिंक टैंक का संचालन रूस की विदेश खुफिया सेवा के एक पूर्व अधिकारी करते हैं, जिनकी नियुक्ति राष्ट्रपति पुतिन करते हैं। दस्तावेजों में एक जून 2016 का है, जिसमें चुनाव को प्रभावित करने की रणनीति है। सरकार में शीर्ष स्तर पर दस्तावेज साझा किया गया। 

सोशल मीडिया पर दुष्प्रचार अभियान
इसमें सोशल मीडिया और समर्थित सरकारों की वैश्विक समाचार एजेंसियों के जरिये दुष्प्रचार अभियान चलाने की वकालत की गई है। ताकि अमेरिका में ऐसी सरकार बने जो रूस के प्रति नरम हो। दूसरा दस्तावेज अक्तूबर में तैयार हुआ, इसमें हिलेरी क्लिंटन के जीतने की आशंका जताते हुए उनकी छवि धूमिल करने और अमेरिकी चुनाव मशीनरी में गड़बड़ी की खबरें फैलाने की वकालत की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: putins gesture messed up in us election