class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मॉर्निंग सिकनेस बताती है गर्भ में बेटा है या बेटी

मॉर्निंग सिकनेस बताती है गर्भ में बेटा है या बेटी

गर्भावस्था में सुबह के समय होने वाली समस्याओं को डॉक्टर स्वस्थ गर्भावस्था की निशानी मानते हैं। सुबह के समस उबकाई या मिचली आने को मॉर्निंग सिकनेस भी कहते हैं। एक शोध में कहा गया है कि इसका अर्थ है कि गर्भस्थ भ्रूण कन्या का हो सकता है। 

ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी में हुए शोध में दावा किया गया है। इसके लिए शोधकर्ताओं ने सम्पूर्ण गर्भावस्था के दौरान 80 से अधिक महिलओं के आंकड़ों का अध्ययन किया है। शोधकर्ताओं का कहना है कन्या भ्रूण होने पर गर्भपती महिला के शरीर में साइटोकाइन्स रसायन अधिक बनते हैं, जिसके कारण उन्हें अत्यधिक मॉर्निंग सिकनेस होती है। इस रसायन का अधिक स्तर होने वाली माता के शरीर में तनाव का स्तर बढ़ा देता है। 

शोध की प्रमुख डॉक्टर अमांडा मिशेल के मुताबिक गर्भवती महिलओं के रक्त में साइटोकिन का स्तर गर्भस्थ शिशु के लिंग से नहीं पता चलता है। मगर हमने देखा कि कन्या भ्रूण होने पर गर्भवती महिलाओं को सुबह की समस्याएं बढ़ जाती हैं। यह शोध नेचर जर्नल में प्रकाशित हो चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:pregnancy morning sickness will reveal its a baby boy or girl
From around the web