class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लीवर में होने वाले रोगों को रोकता है करेला

लीवर में होने वाले रोगों को रोकता है करेला

करैला भले ही आपकी नजर में कड़वा और आम सब्जी की तरह हो लेकिन वैद्य की नजर में जीवन में मिठास घोलने वाली अचूक दवा है। वैद्य पवन कुमार वर्मा के अनुसार करेला के नियमित सेवन से कई तरह के फायदे होते हैं। उन्होंने कहा कि यह एंटी बैक्टीरियल होने के कारण काफी फायदेमंद है। बच्चों को 5 और बड़ों को 10 मिलीलीटर करेले के रस का नियमित सेवन करना चाहिए। ऐसा नहीं होने पर विकल्‍प के तौर पर इसकी सब्जी भी खाई जा सकती है।

क्या हैं फायदे
करेला के या उसके पत्ते का नियमित सेवन किया जा सकता है। करैला की सब्जी या उसके रस के नियमित सेवन से पेट में कीड़े नहीं होते हैं। 

इसके नियमित सेवन से पेट या सीने में जलन नहीं होगी और पेशाब करने की प्रवृत्ति बढ़ेगी

इसके खाने से कब्ज नहीं होता है।

करेला भले स्वाद में अच्छा नहीं लगे लेकिन यह शूगर के मरीजों के लिए काफी फायदेमंद है।

लीवर से उत्पन्न होने वाले रोगों को रोकने में कारगर होता है।

इतना नहीं इसके नियमित सेवन से जोड़ों में दर्द नहीं होगा।

महिलाओं के त्वचा में निखार लाने और त्वचा के रोगों को दूर भगाने में कारगर दवा है करैला।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know health benefit of bitter gourd in liver sugar constipation
From around the web