class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाटी ब्लॉक के शौचालयों का होगा भौतिक सत्यापन

पाटी ब्लॉक के शौचालयों का होगा भौतिक सत्यापन

पाटी ब्लॉक को खुला शौच मुक्त घोषित किए जाने से संबंधित अनियमितताओं पर सीडीओ ने सख्त रुख अपना लिया है। सीडीओ ने राजस्व विभाग की टीमों को गांव-गांव घूमकर शौचालयों का भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए हैं। बकायदा टीमें मौके पर जाकर संबंधित शौचालयों का फोटो भी खींचेंगी, जिसे बाद में वेबसाइड पर अपलोड किया जाएगा। इसके बाद लाभ से वंचित लोगों की दोबारा सूची तैयार की जाएगी।

चम्पावत जिले का पाटी ब्लॉक बीते पांच नवंबर को प्रशासन की ओर से खुला शौच मुक्त घोषित किया गया था। प्रशासन के मुताबिक ब्लॉक के हर घर में पक्का शौचालय बन चुका है। गरीब परिवारों के लिए स्वजल और मनरेगा के तहत सरकार की ओर से पक्के शौचालयों का निर्माण पूरा हो चुका है। इस बात की पड़ताल के लिए आपके प्रिय हिन्दुस्तान ने हालिया दिनों में ब्लॉक के विभिन्न गांवों का भ्रमण किया। पड़ताल में सामने आया था कि इसी ब्लॉक की ग्राम सभा गागर के गगराड़ तोक में छह परिवार, टकना ग्राम पंचायत के ग्राम मथेला छाना में छह परिवार, ग्राम पंचायत पीपी ढींग में तीन परिवार, ग्राम पंचायत मोलना जाख में 14 परिवार अब भी खुले में शौच को बाध्य हो रहे हैं। इस पड़ताल के चलते सरकारी दावे सामने आए थे। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सीडीओ एचजी भट्ट ने ब्लॉक के उन सभी शौचालयों का भौतिक सत्यापन के निर्देश दिए हैं, जो मनरेगा या स्वजल के मद से बनाए गए हैं। सत्यापन पूरा होने के बाद उन लोगों की सूची सामनेआएगी जो अब भी खुले में शौच को बाध्य हैं। इसके बाद उन लोगों के लिए प्रशासन की ओर से शौचालय निर्माण की कवायद शुरू की जाएगी। साथ ही ऐसे लोग भी सामने आ जाएंगे जिन्होंने सरकारी रुपये लेने के बाद भी शौचालय नहीं बनवाए। सीडीओ ने बताया कि भौतिक सत्यापन की व्यवस्था शुरू हो गई है। शीघ्र ही इसके नतीजे सामने आ जाएंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Party, devoid of toilets, CDO, verification
From around the web