class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अल्मोड़ा में रुपये निकालने के लिए लगी लंबी कतारें

अल्मोड़ा में रुपये निकालने के लिए लगी लंबी कतारें

अल्मोड़ा में महीने के दूसरे दिन शुक्रवार को भी बैंकों में वेतन और पेंशन लेने वाले लोगों की भीड़ लगी रही। लोग फिर लाइनों में लगकर बारी का इंतजार करते दिखाई दिए। वेतन और पेंशन लेने के लिए जहां ग्राहकों को काफी समय खर्च करना पड़ा। वहीं, उन्हें नोट लेने की निर्धारित सीमा तक ही कैश मिल सका।

शुक्रवार को सवेरे से ही बैंकों में वेतन और पेंशन लेने वाले लोगों की भीड़ लगानी शुरू हो गई थी। नगर के स्टेट बैंक के अलावा, कैनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, आईडीबीआई बैंक, आईसीआईसीआई, ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स समेत सभी बैंकों में लोग लंबी-लंबी लाइन लगाकर बारी का इंतजार करते दिखाई दिए। घंटों के इंतजार के बाद लोगों को सिर्फ 24 हजार रुपये तक की रकम मिल सकी। सबसे अधिक परेशानी का सामना दूरदराज के क्षेत्रों से आ रहे लोगों को करना पड़ रहा है, हालांकि बैंक अधिकारी ग्राहकों की समस्या से निपटने के लिए अलग-अलग काउंटर खोलकर लोगों की मदद कर रहे हैं, लेकिन बैंकों की लाइनों में लग रहे समय के कारण दूरदराज के लोगों को घर वापसी में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

एसबीआई अल्मोड़ा के शाखा प्रबंधक एसके सिंह ने कहा कि वेतन और पेंशन लेने वाले लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। इसके लिए पूरे-पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। कैश की डिमांड भेजी गई है कुछ ही दिनों में और करेंसी उपलब्ध हो जाएगी।

खुले पैसों की समस्या अब भी बरकरार

अल्मोड़ा। नोटबंदी के बाद अब भले ही लोगों को बैंकों और एटीएम से धीरे-धीरे पैसे मिलने शुरू हो गए हैं, लेकिन छोटे नोटों की कमी अभी भी बरकरार है। बैंकों से छोटे नोट काफी कम मात्रा में मिल रहे हैं। एटीएम मशीन में अभी तक पांच सौ का नोट न आने के कारण वहां से भी दो हजार का ही नोट प्राप्त हो रहा है। ऐसे में छोटों नोटों कमी अभी भी बरकरार है। इसका आम आदमी समेत व्यापारियों पर भी असर पड़ रहा है।

नई करेंसी का इंतजार तो पुरानी करेंसी भेजने का झंझट

अल्मोड़ा। 500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद अब बैंकों में पुराने नोटों का ढेर लग गया है। जिन्हें वापस भेजने के लिए भी बैंक कर्मियों को खासी मशक्कत का सामना करना पड़ रहा है। एक तरफ बैंक कर्मी और ग्राहक नई करेंसी के आने और बैंकों में लग रही भीड़ से निजात पाने का इंतजार कर रहे हैं। वहीं, दूसरी ओर पुराने नोटों को वापस भेजने का झंझट भी बैंक कर्मचारी झेल रहे हैं। बैंक अधिकारियों की मानें तो दिन भर ग्राहकों को कैश उपलब्ध कराने के साथ ही पुराने नोटों को वापस भेजने का काम भी साथ साथ किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Friday was the long lines salary