class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भागेश्वर-हरोड़ी सड़क विस्तारीकरण का काम रोकने की मांग

विकास खंड के भागेश्वर-हरोड़ी सड़क के प्रस्तावित विस्तारीकरण कार्य के सर्वे को लेकर विवाद पैदा हो गया है। वन पंचायत खुनाड़ी के सरपंच ने लोनिवि पर बिना ग्रामीणों की सहमति से सड़क के विस्तारीकरण का सर्वे करने का आरोप लगाया है।

उनका कहना है कि जहां से सड़क को आगे बढ़ाने का काम प्रस्तावित है, वहां पर सैकड़ों बांज के पेड़ आ रहे हैं। प्रस्तावित जगह से सड़क काटी जाती है तो बड़े पैमाने पर पेड़ पौधों को नुकसान पहुंचेगा। उन्होंने डीएम से मामले का संज्ञान लेते हुए सड़क के विस्तारीकरण का प्रस्ताव निरस्त करने की मांग की है।वन पंचायत खुनाड़ी के सरपंच दान सिंह कठायत ने गुरुवार को डीएम को दिए ज्ञापन में कहा है कि लोनिवि के माध्यम से लगभग एक किमी भागेश्वर-हरोड़ी सड़क का विस्तारीकरण किया जाना है। विभाग ने विस्तारीकरण के लिए जो सर्वे किया है वह एकदम गलत है। इसमें ग्रामीणों की सहमति नहीं ली गई है। जिस जगह से सड़क प्रस्तावित है वहां पर सैकड़ों बांज के पेड़ आ रहे हैं। सड़क विस्तारीकरण का काम होता है तो इससे बांज के कीमती पेड़ नष्ट हो जाएंगे, जिसका सीधा असर पर्यावरण पर पड़ेगा। साथ ही इससे अवैध खनन और कटान को बढ़ावा मिलेगा।

उन्होंने खनन माफियाओं की सह पर सड़क के विस्तारीकरण का आरोप लगाते हुए कहा है कि पूर्व में राजस्व गांव खुनाड़ी की एकमात्र सिंचाई गूल को ध्वस्त कर खुनाड़ी से भागेश्वर तक रोड काटी गई है, अब माफिया इसका विस्तार कर अवैध खनन और कटान को बढ़ावा देना चाहते हैं। डीएम से इस मामले की जांच कर सड़क विस्तारीकरण के प्रस्ताव पर तत्काल रोकने की मांग की है। उधर लोनिवि के ईई डीडी भट्ट का कहना है कि सड़क विस्तारीकरण का सर्वेक्षण मानकों के अनुरूप किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Champawat, Bageshwar-Hrodi, road expansion, controversy, head, memo
From around the web