Image Loading Borack Jarkot village without electricity in the last three years - Hindustan
रविवार, 23 अप्रैल, 2017 | 13:35 | IST
Mobile Offers Flipkart Mobiles Snapdeal Mobiles Amazon Mobiles Shopclues Mobiles
खोजें
ब्रेकिंग
  • टॉप 10 न्यूज़: विडियो में देखें देश और दुनिया की अभी तक की बड़ी खबरें
  • स्पोर्ट्स स्टार: विराट की टीम को मजबूती, इस स्टार बल्लेबाज की हुई वापसी। पढ़ें...
  • बॉलीवुड मसाला: जिन्होंने शो छोड़ा कपिल ने उन्हें कहा शुक्रिया, देखें EMOTIONAL VIDEO।...
  • मौसम दिनभरः दिल्ली-एनसीआर में आज रहेगी गर्मी। लखनऊ में छाए रहेंगे बादल। पटना,...
  • ईपेपर हिन्दुस्तानः आज का अखबार पढ़ने के लिए क्लिक करें
  • आपका राशिफलः कन्या राशि वालों को परिवार का सहयोग मिलेगा, नौकरी में तरक्की के बन...
  • सक्सेस मंत्र: काम को बोझ समझकर नहीं बल्कि पूरे मन और आनंद से करें
  • MCD चुनाव 2017: थोड़ी देर में शुरू होगा मतदान, 56 हजार सुरक्षाकर्मी करेंगे निगरानी
  • MIvDD : मुंबई ने दिल्ली को 14 रन से हराया

कपकोट के अंतिम गांव बोराचक झारकोट में तीन साल से बिजली गुल

बागेश्वर। हमारे संवाददाता First Published:02-12-2016 04:12:44 PMLast Updated:02-12-2016 04:20:20 PM

कपकोट के अंतिम छोर पर बसे गांव बोराचक झारकोट में तीन साल से बिजली नहीं है। गांव में उरेडा से लघु जल विद्युत परियोजना बनाई गई थी, जो आपदा में क्षतिग्रस्त हो गई। कई बार विभाग को सूचित करने पर भी व्यवस्था बहाल नहीं हो सकी। ग्रामीणों ने डीएम को ज्ञापन सौंपकर जल्द बिजली व्यवस्था सुचारू करने की गुहार लगाई। जिला पंचायत सदस्य गोविंद सिंह दानू के नेतृत्व में ग्रामीणों का शिष्टमंडल डीएम मंगेश घिल्ड़ियाल से मिला। उन्होंने बताया कि बोराचक झारकोट में 2013 की आपदा के समय जल विद्युत परियोजना क्षतिग्रस्त हो गई थी, जिसके बाद से गांव अंधेरे में डूबा है। परियोजना की टरबाइन मशीन, डायवर्जन टैंक, बिजली लाइन तथा जनरेटर खराब पड़े हैं।

उन्होंने बताया कि कई बार विभाग को सूचित किया गया, उसके बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो सका। उन्होंने बताया कि उच्च हिमालयी क्षेत्र में बर्फबारी के समय हिंसक जानवर गांव की ओर चले आते हैं, जिससे ग्रामीणों को सूर्यास्त होते ही मवेशी सहित घरों में कैद होना पड़ता है। उन्होंने जल्द बिजली व्यवस्था सुचारू कर ग्रामीणों को राहत देने की मांग की। जल्द कार्रवाई नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। इस मौके पर भागीरथी देवी, महिपाल दानू, नंदनी दानू, गोकुल दानू, राजेंद्र दानू, राजीव कर्म्याल, विक्की दानू, प्रकाश सिंह, नंदन दोबड़िया, नरेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

जरूर पढ़ें

 
Hindi News से जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
Web Title: Borack Jarkot village without electricity in the last three years
 
 
 
अन्य खबरें
 
From around the Web
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड