class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारी फोर्स के बीच कठकुइयां की नीलाम मिल की कटाई शुरू

भारी फोर्स के बीच कठकुइयां की नीलाम मिल की कटाई शुरू

केन्द्र सरकार के कपड़ा मंत्रालय के अधीन रही कुशीनगर जिले की कठकुइयां चीनी मिल की नीलामी के बाद कटाई शुरू हो गई है। यह चीनी मिल वर्ष 1997-98 के पेराई सत्र में किसान आंदोलन के दौरान बंद हो गई थी और बाद में बीआईएफआर ने इसे गंगोत्री इंटर प्राइजेज को लीज पर दिया था। लेकिन यह कंपनी भी चीनी मिल नहीं चला सकी थी।

इसके बाद बकाया चुकता के एवज में आईएफसीआई को सौंप दिया। आईएफसीआई ने वर्ष 2011 में चीनी मिल की चल एवं अचल संपत्तियों को राजेन्द्रा इस्पात कंपनी को 7 करोड़ में बेच दिया। किसानों के विरोध के चलते मामला हाईकोर्ट में भी चला और बकाया गन्ना मूल्य का देनदार आईएफसीआई को बताते हुए मिल का स्कैप बेचने के लिए राजेन्द्रा इस्पात कंपनी को दे दिया। कोर्ट के आदेश के क्रम में डीएम आन्द्रा वामसी द्वारा एसडीएम, सीओ एवं जिला गन्ना अधिकारी की गठित टीम एवं भारी फोर्स के बीच रविवार को चीनी मिल के कलपुर्जों की कटाई शुरू हो गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Between the heavy force, the beginning of the auction mill kutting