class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हत्या में तीन सगे भाइयों को उम्रकैद

उन्नाव में रास्ते के विवाद को लेकर की गई हत्या के मामले में गुरुवार को अपर सत्र न्यायाधीश ने तीन सगे भाइयों को उम्रकैद की सजा सुनाई। साथ ही सभी पर 11-11 हजार रुपए का जुर्माने का अर्थदण्ड भी लगाया।

घटना गंगाघाट थाना क्षेत्र के सहजनी गांव की है। 15 जनवरी 2012 को सुबह शौच के लिए निकले किशनू 45 को पड़ोस के ही रहने वाले अमरनाथ, अमर सिंह व रामसिंह पुत्र नरायण ने धारदार हथियार (बांका) से वार कर सरेआम हत्या कर दी थी। हत्या के पीछे गांव में ही रास्ते के निकलने को लेकर विवाद बताया गया था। रास्ते के विवाद को लेकर ही पहले दोनों पक्षों में कहासुनी हुई थी।

यह कहासुनी इतनी बढ़ी कि सुबह जब किशनू शौच के लिए निकला तभी तीनों भाइयों ने उसे घेरकर धारदार हथियार से हत्या कर दी थी। घटना की रिपोर्ट अनुज वधू शिवदेवी ने पुलिस में दर्ज कराई थी। जिसमें उपरोक्त तीनों को नामजद किया गया था। पुलिस ने विवेचना के दौरान इन तीनों अभियुक्तों के विरुद्ध चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की थी। मामले की सुनवाई अपर जिला जज मु. रिजवानुल हक की अदालत में चल रही थी।

गुरुवार को एडीजे हक ने अभियोजन पक्ष की ओर से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता मो. आफताब खां व बचाव पक्ष के अधिवक्ता की दलीलों को सुनने के बाद शासकीय अधिवक्ता के तर्कों को सही ठहराया। बचाव पक्ष की ओर से अभियुक्तों के बचाव में कई तर्क दिए लेकिन एडीजे ने उनके तर्कों से संतुष्ट नहीं हुए।

हत्या में शामिल तीनों सगे भाइयों अमरनाथ, अमर सिंह व राम सिंह को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। सजा के साथ ही तीनों अभियुक्तों पर ग्यारह- ग्यारह हजार रुपए जुर्माने का अर्थदण्ड की सजा सुनाई। सजा का ऐलान होते ही पुलिस ने सभी तीनों अभियुक्तों को कस्टडी में लेकर जेल भेज दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Life imprisonment for the murder of three brothers