रविवार, 26 अक्टूबर, 2014 | 09:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
चुनौतीपूर्ण भूमिकाओं को पसंद करती हैं रानी
मुंबई, एजेंसी First Published:04-12-12 04:26 PM
Image Loading

हाल में रिलीज फिल्म 'तलाश' में दुखी पत्नी और अपने पुत्र की मौत के गम में रहने वाली महिला का अभिनय करने वाली रानी मुखर्जी ने कहा है कि उन्हें अभिनेत्री के तौर पर चुनौतियां पसंद हैं और वह उस प्रकार की फिल्मों में काम नहीं करना चाहती, जो उन्हें अथवा दर्शकों को उबाऊ लगती हों।
     
रानी मुखर्जी ने कहा कि मुझे चुनाव करना होगा। यदि मैं अभिनेत्री के तौर पर स्वयं चुनौतियां नहीं लेती हूं तो अपने आप से ऊब जाउंगी। करीब तीन चार साल पहले भी मैं चुनाव करती थी और केवल वहीं फिल्में करती थीं, जो मुझे बोर नहीं करती थीं। यदि मुझे ही इस प्रकार की फिल्मों से ऊब होती है, तो मैं कैसे उम्मीद करूं कि दर्शक इन्हें देखकर नहीं ऊबेंगे। 
     
उन्होंने कहा कि इसलिए यदि मुझे चुनौतियां मिलती हैं, तो मैं उत्साहित होती हूं। यदि मैं कुछ अलग करती हूं तो मुझे लगता है कि दर्शन इसे जरूर पसंद करेंगे।
     
उल्लेखनीय है कि अपने 17 साल के अभिनय करियर में रानी ने अनेक चुनौतीपूर्ण भूमिकाएं अदा की हैं। उन्होंने 'कुछ कुछ होता है' में एक कॉलेज की छात्र का अभिनय किया, जबकि 'साथिया' में एक चिकित्सक का, 'वीर ज़ारा' में अधिवक्ता का, 'युवा' में तेज तर्रार पत्नी का, 'ब्लैक' में अंधी लड़की और 'नो वन किल्ड जैसिका' में एक नामचीन पत्रकार का किरदार निभाया था।
     
वह कहती है कि वह अपने लिए अलग-अलग भूमिकाएं वाले किरदार चुनती हैं और एक ही तरह के अभिनय करने से बचती हूं।
 
 
 
टिप्पणियाँ