मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 17:15 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड: जमशेदपुर में एमडीएम में छिपकली गिरने से एक दर्जन बच्चे गंभीर बीमार, एमजीएम में चल रहा है इलाज।
'इंकार' में सपना साकार हुआ : सुधीर मिश्रा
मुम्बई, एजेंसी First Published:23-12-2012 04:15:41 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

फिल्म निर्देशक सुधीर मिश्रा का कहना है कि उनकी नई फिल्म ‘इंकार’ का आइडिया जब उनके दिमाग में आया था तभी से प्रमुख भूमिकाओं के लिए उनके जहन में चित्रांग्दा और अर्जुन रामपाल थे। यह एक सपना था जो साकार हुआ।

सुधीर मिश्रा ने एक मुलाकात में कहा कि अर्जुन ऐसा इंसान नहीं दिखता जो किसी को तंग करेगा और चित्रांग्दा ऐसी महिला नहीं लगती जिसके पास और विकल्प न हों। मैंने किसी और के बारे में सोचा ही नहीं और खुशकिस्मती से कभी-कभी सपने सच भी हो जाते हैं।

सुधीर ने कहा कि उन्होंने यह फिल्म युवाओं को ध्यान में रखकर बनाई है जिन्हें ऑफिस में बदलते परिवेश में काम करना सीखना होता है।

उन्होंने कहा कि युवाओं को यह फिल्म देखकर मालूम चलेगा कि महिलाओं और महिला बॉस से कैसे निबटा जाए। ‘इंकार’ में ऑफिस में होने वाले यौन शोषण को दर्शाया गया है। इसमें अर्जुन एक विज्ञापन कंपनी के सीईओ और चित्रांग्दा कॉपी राइटर बनी हैं। फिल्म 18 जनवरी को रिलीज़ होगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।