रविवार, 01 फरवरी, 2015 | 17:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो भाजपा को पूर्ण बहुमत दीजिए : मोदीजहां झुग्गी होगी वहीं पक्का मकान बनाएंगे : मोदीशहर में ट्रफिक की समस्या का समाधान किरण बेदी करा देंगी : मोदीगरीबों को गरीब रखकर राजनीति हुई : मोदीचुनाव भी विकास के मु्द्दे पर लड़ता हूं और सरकार भी विकास के मुद्दे पर चलाता हूं : मोदीमेरे पास किताबी ज्ञान नहीं, लोगों की शक्ति की पहचान है : मोदीटीवी में जगह से सरकार नहीं चलती : मोदीयुवा देश का लाभ लेना मुझे आता है : मोदीअगर नसीबवाले से आपका पैसा बचता है तो बदनसीब की क्या जरूरत : मोदीमेरे नसीब से तेल-पेट्रोल सस्ता हुआ तो क्या बुरा है : मोदीआपने जो प्यार दिया अब मुझे वह ब्याज समेत लौटाना है : मोदीआंदोलन की आदत रखने वालों को सिर्फ टीवी में जगह चाहिए : मोदीदिल्ली को जिम्मेवार सरकार चाहिए : मोदीभागने से काम नहीं चलता, सरकार चलाना बड़ी जिम्मेदारी : मोदीरोज विरोधी सुबह उठकर सोचते हैं कि आज कौन सा झूठ फैलाया जाए : मोदीकांग्रेस-आप में झूठ बोलने की होड़ : मोदीकांग्रस-आप ने कुर्सी के लिए सौदा किया : मोदीहम समस्या दूर करने की सोचते हैं : मोदीदिल्ली से पानी का वादा पूरा किया : मोदीदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी ने रैली के दौरान कहा, मैं असली दिल्लीवाला हो गया हूंदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी की रैलीबीजेपी नफरत फैला रही है : सोनियाबीजेपी ने झूठे वादे किए, किसानों के सपने का क्या हुआ, काला धन वापस कहां आया : सोनियाहमने झुग्गीवालों को घर दिये : सोनियादिखावे की राजनीति करने वालों से सतर्क रहने की जरूरत : सोनियाबिहार के फारबिरगंज में काले झंडों के साथ अल्पसंख्यक समुदाय के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन, फांस की शार्ली एब्दो पत्रिका द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब का कार्टून छापने के विरोध में किया प्रदर्शन।
अभिनेत्रियों के नाम रहा बॉलीवुड का यह साल
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:21-12-12 03:02 PM
Image Loading

बॉलीवुड अभिनेताओं के दबदबे के लिए जाना जाता है, लेकिन वर्ष 2012 अभिनेत्रियों के नाम रहा। विद्या बालन, श्रीदेवी, करीना कपूर इस परिवर्तन के चैम्पियन रहे। उन्होंने अपने दम पर फिल्में कामयाब कर दिखाई। उन्होंने साबित कर दिया कि वे सिर्फ ग्लैमर की गुड़िया नहीं हैं।

विद्या बालन की ‘कहानी’ इस साल की पहली महिला केंद्रित फिल्म रही, जो वर्ष 2011 में अपनी हिट फिल्म ‘द डर्टी पिक्चर’ से पहले ही पुरुषों के गढ़ में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी थीं।

सिर्फ आठ करोड़ रुपये में बनी संजय घोष की फिल्म ‘कहानी’ सात माह की गर्भवती महिला विद्या बागची पर केंद्रित थी। रहस्य एवं रोमांच से भरी फिल्म दर्शकों को खूब पसंद आई और इसने बॉक्स ऑफिस पर 59.26 करोड़ रुपये की कमाई की।

फिल्म की सफलता के बाद विद्या ने कहा था कि महिलाएं देशभर में जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में मुख्य भूमिका में आ रही हैं और सिनेमा इसी को प्रदर्शित करता है। मैं ऐसी फिल्म का हिस्सा बनकर खुश हूं, जिसमें महिला को नए रूप में दर्शाया गया।

‘कहानी’ के बाद आई करिश्मा कपूर की ‘डेंजरस इश्क’, जिसमें उन्होंने सुपर मॉडल की भूमिका निभाई थी। हालांकि फिल्म बॉक्स ऑफिस पर बहुत नहीं चल पाई, लेकिन इसमें करिश्मा के अभिनय के खूब तारीफ हुई।

बिपाशा बसु अभिनीत ‘राज़ 3’ ने भी 70 करोड़ रुपये की कमाई की। इसके बाद आई करीना कपूर अभिनीत ‘हिरोइन’ ने भी लोगों की खूब सराहना हासिल की। 32 करोड़ रुपये में बनी इस फिल्म ने 44.25 करोड़ रुपये की कमाई की।

फिल्म ‘इंगलिश-विंगलिश’ से 15 साल बाद बड़े पर्दे पर श्रीदेवी की वापसी भी धमाकेदार रही। गौरी शिंदे निर्देशित इस फिल्म में एक आम गृहिणी की कहानी थी, जो अंग्रेजी नहीं बोल पाने के कारण बच्चों व पति के बीच हंसी का पात्र बनती है, पर बाद में मजबूत इच्छाशक्ति से अपनी इस कमजोरी से पार पाती है। करीब 15 करोड़ रुपये में बनी इस फिल्म ने 10 दिन के भीतर दुनियाभर में 45.78 करोड़ रुपये की कमाई की।

फिल्मी व्यापार विशेषज्ञ तरन आदर्श ने परिवर्तन का स्वागत करते हुए कहा कि विद्या, करीना और श्रीदेवी को खेल बदलने का श्रेय जाता है। उनकी फिल्मों ने न केवल घरेलू बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई की, बल्कि विदेशों में भी खूब पैसे कमाए।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड