शुक्रवार, 19 दिसम्बर, 2014 | 17:43 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ऊंचाहार एक्सप्रेस में दो भाइयों से लूट, चाकू मारावित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में पेश किया जीएसटी बिलअरुण जेटली ने कहा, जीएसटी से नहीं होगा किसी राज्य का नुकसानजीएसटी बिल संसद में पेश किया गयाबीजेपी की शिकायत पर हेमंत शोरेन, बसंत शोरेन, और सीएम के बॉडीगार्ड पर एफआईआर दर्ज
दबंग 2 का संगीत भी हमारे लिए खास साबित होगा..
गोपा सी़ First Published:14-12-12 09:16 PMLast Updated:14-12-12 09:35 PM
Image Loading

सलमान-सोनाक्षी अभिनीत फिल्म दबंग 2 का संगीत मशहूर संगीतकार साजिद वाजिद ने दिया है। पेश है उनसे हुई बातचीत के प्रमुख अंश-

दबंग-2 के संगीत के बारे में क्या कहेंगे ?
कहना क्या है, सल्लू भाई की फिल्में हमेशा हल्के-फुल्के म्यूजिक की डिमांड करती हैं। पंजाबी तेज संगीत उन्हें बहुत पसंद है। हमने इसमें खास उत्तर भारतीय श्रोताओं को ध्यान में रख कर कुछ म्यूजिक नंबर रखे हैं। ज्यादातर गाने नाचने-गाने वाले हैं। असल में श्रोता इस तरह के गाने ही पसंद कर रहे हैं।

दबंग-2 को क्या आप एक लाइट एलबम मानते हैं?
इसकी तो कोई गुंजाइश ही नहीं है। यह दबंग का सीक्वल है, इसके म्यूजिक का फ्लेवर वैसा ही रहेगा, जैसा दबंग में था। पर हमने इसे फॉलो करते हुए अपनी तरफ से इसमें बहुत कुछ नया पेश करने की कोशिश की है।

आपने अपने करियर की शुरुआत दूसरे संगीतकारों के साथ शेयर करके शुरू की थी?
जी हां, हमने मुझसे शादी करोगी, प्यार किया तो डरना क्या, तेरे नाम आदि कुछेक फिल्मों में दूसरे संगीतकारों के साथ मिल कर काम किया। तब लोगों की ऐसी धारणा बनने लगी थी कि हम सिर्फ एक गाना ही बना सकते हैं। इसके चलते कई गानों में हमें क्रेडिट भी नहीं दिया गया। पर हमें पूरा यकीन था कि देर सबेर हमारा काम जरूर बोलेगा। यही वजह है कि हम आज भी कुछ फिल्मों में एक गाना कंपोज कर रहे हैं, पर हमारा काम अब अपनी पहचान बना चुका है। अब जैसे कि एक था टाइगर का सिर्फ एक गाना माशाल्लाह जबरदस्त हिट हुआ था।

क्या दबंग आपके लिए टर्निग प्वॉइंट बनी थी?
दबंग से पहले वीर का जिक्र करना चाहूंगा। युद्ध की पृष्ठभूमि पर आधारित इस फिल्म का संगीत बहुत चैलेंजिंग था। हमने इसके संगीत के हर पक्ष पर बहुत मेहनत की थी। यह फिल्म नहीं चली, इसलिए म्यूजिक की भी ज्यादा चर्चा नहीं हुई। इससे पहले वॉन्टेड में भी हमने अच्छा काम किया था। इसका संगीत भी काफी अलग था, लेकिन इसमें कोई शक नहीं है कि दबंग लाजवाब थी। अब हमें पूरा यकीन है कि दबंग-2 का संगीत भी हमारे लिए कुछ खास बनेगा।

हर फिल्म में हिट संगीत का प्रेशर क्या आप भी महसूस करते हैं?
क्यों नहीं, क्योंकि लोगों की उम्मीदें बहुत होती हैं। और फिल्म संगीत एक थाली की तरह होता है, जिसमें खट्टा और मीठा दोनों तरह का खाना होता है। जाहिर है इस वजह से हमारी जिम्मेदारी बहुत बढ़ जाती है। हम ऐसा म्यूजिक देना चाहते हैं, जिसे सुन कर लोग पूरी तरह से झूम उठें।

ट्यून बनाते समय आप फिल्म के हीरो को कितनी अहमियत देते हैं?
हमारा ख्याल है कि संगीत एक तरह से हीरो का प्रतिबिंब होता है, इसलिए सुर रचना करते समय हम स्टार के अंदाज को बहुत अच्छी तरह से फॉलो करते हैं। अब जैसे कि राउडी राठौड़ का म्यूजिक तैयार करने से पहल हम अक्षय से दो-तीन बारे मिले। हमने महसूस किया कि वह एक हिप हॉप हीरो हैं और उन पर पंजाबी म्यूजिक बेहद सूट करेगा। उनकी गाड़ी में उनके साथ ट्रेवलिंग करते समय उन्होंने हमारी बनायी कुछ धुनें सुनीं।

आगे आपकी कौन-सी फिल्में आने वाली हैं?
फिल्में तो कई हैं, पर जल्द ही प्रीति जिंटा की इश्क इन पेरिस आएगी। इस लव स्टोरी में हमने खूब मसाला तड़का टाइप का संगीत दिया है। इसमें हमने नुसरत फतेह अली खान को भी ट्रिब्यूट देते हुए एक गाना दिया है। यह गाना बिल्कुल उनके अंदाज का होगा। एक फिल्म हिम्मतवाला है। इसका म्यूजिक बनाते समय भी हमें बहुत मजा आया। श्रेया घोषाल और मिका सिंह की आवाज में हमने ता-थैया, ता-थैया गाना पिछले दिनों रिकॉर्ड किया। इसके लिए हमने सौ से ज्यादा म्यूजिशियन्स की सेवाएं ली थीं। पहली हिम्मतवाला जब रिलीज हुई थी, तब हम बच्चे थे, इसलिए अब इसका संगीत देना वाकई में बहुत खास बन गया है। 

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड