शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 00:28 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स पर फिल्म बनानी है: अंजलि
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:06-12-12 04:24 PM
Image Loading

निर्देशक अंजलि मेनन ने कहा कि उनका अरुंधति रॉय की किताब गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स को बड़े पर्दे पर उतारने का सपना है। उन्होंने अपनी पहली फिल्म मलायालय में मनजादिकुरू बनायी है, जिसे फिल्म समीक्षकों की ओर से भारी प्रसंशा मिली है।

अंजलि ने कहा कि मैं गॉड ऑफ स्मॉल थिंग्स के जादू को फिर से जिंदा करना चाहती हूं। उन्होंने कहा कि हालांकि किताब की लेखिका इस पर आधारित सिनेमा बनाने के लिए बहुत ज्यादा उत्साहित नहीं हैं।

लंदन के फिल्म स्कूल से अपनी सिनेमा की पढ़ाई पूरा करने वाली अंजलि ने को अपनी पहली फिल्म की विषयवस्तु चुनने के लिए बहुत कठिनाई नहीं आयी।

भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म समारोह में दिखाई जाने वाली फिल्म मनजादिकुरू 1980 के सामाजिक पृष्ठभूमि पर आधारित है। अंजलि ने इस फिल्म की प्रेरणा अपने बचपन एवं किरोशारावस्था और संयुक्त परिवार की परंपरा से प्राप्त की। वह उत्तरी केरल की रहने वाली है, जहां की पृष्ठभूमि पर इस फिल्म का निर्माण किया गया है।

अंजलि ने कहा कि जब मैंने इसकी पटकथा लिखी, तब मुझे नहीं मालूम था कि दर्शक इस कहानी से जुड़ाव महसूस करेंगे। एक लेखक के तौर पर मुझे अपनी फिल्म की स्वीकृति से बेहद खुशी प्राप्त हुई है।

 
 
 
टिप्पणियाँ