शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 08:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पूर्व रॉ प्रमुख का खुलासा: खुफिया एजेंसी कश्मीर में आतंकियों को देती है पैसा वैज्ञानिकों ने खोला कम और अधिक आयु का राज, आप भी जान लीजिए यूपी में 'चुड़ैल का वीडियो' हुआ वायरल, पुलिस ढूंढ रही 'चुड़ैल' को 'उधर हेमा को अस्पताल ले गए, इधर मेरी बेटी ने अपनी मां की गोद में दम तोड़ दिया' फिल्म देखने से पहले पढ़ें 'गुड्डू रंगीला' का रिव्यू फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या हजारीबाग के पदमा में दो गुटों में भिड़ंत, आधा दर्जन घायल गुमला में बाइक के साथ नदी में गिरा सरकारी कर्मी, मौत
'‘मिडनाइट.’ को प्रमाण पत्र मिलने में नहीं हुई समस्या'
मुम्बई, एजेंसी First Published:16-12-12 12:48 PM
Image Loading

‘फायर’, ‘वॉटर’ एवं ‘1947 अर्थ’ जैसी विवादास्पद फिल्में बनाने वाली दीपा मेहता का कहना है कि उन्हें लगता था कि फिल्म ‘मिडनाइट चिल्ड्रेन’ को सेंसर बोर्ड से प्रमाण पत्र मिलने में परेशानी होगी। हालांकि उसे बगैर किसी विवाद के प्रमाण पत्र मिल गया।

यह फिल्म विवादास्पद लेखक सलमान रश्दी के बुकर पुरस्कार विजेता उपन्यास ‘मिडनाइट चिल्ड्रेन’ पर आधारित है। सेंसर बोर्ड ने फिल्म को बुधवार को प्रमाण पत्र दिया है। दीपा इसके बाद बेहद खुश हैं।

उन्होंने कहा कि बेवजह के विवाद के बाद मैं किसी प्रकार की परेशानियों के आने की उम्मीद कर रही थी। लेकिन सेंसर बोर्ड ने अपवाद स्वरूप बढ़िया काम किया। उन्होंने फिल्म का एक भी दृश्य नहीं काटा। भले ही उन्होंने इसे वयस्क का प्रमाण पत्र दिया है। ठीक है। ‘मिडनाइट चिल्ड्रेन’ बच्चों के लिए नहीं है। लेकिन मुख्य बात है कि जिस तरह वयस्क दर्शकों के साथ व्यवहार किया जा रहा है क्योंकि प्रौढ़ता जो धीरे धीरे आ रही है वह भारत के सामाजिक-राजनीतिक ढांचे में धीरे-धीरे ही सही बदलाव का प्रतीक है।

दीपा ने कहा कि सेंसर से प्रमाण पत्र मिलने के बाद पीवीआर पिक्चर्स ने इस फिल्म को जनवरी 2013 में प्रदर्शित होने से पहले हिंदी में भी डब करने का निर्णय लिया है। पीवीआर भारत में इस फिल्म का वितरक है।

उन्होंने कहा कि मैं इन मामलों को बेहद योग्य अपने वितरकों के ऊपर छोड़ती हूं। मैं सिर्फ इसी बात से खुश हूं कि मेरी फिल्म भारत में बगैर किसी कांट छांट के भारत में प्रदर्शित होगी।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड