मंगलवार, 01 सितम्बर, 2015 | 05:19 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
‘डेविड’ के तमिल संस्करण से हटे नील
मुम्बई, एजेंसी First Published:16-12-2012 04:38:09 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

फिल्म निर्माता बिजॉय नाम्बियार अपनी द्विभाषी फिल्म ‘डेविड’ के हिंदी और तमिल दोनों संस्करण के लिए नील नीतिन मुकेश को बतौर अभिनेता लेना चाहते थे लेकिन वह अब सिर्फ हिंदी संस्करण में ही नजर आएंगे।

एक सूत्र ने कहा कि 'डेविड’ की तीन कहानियां हैं पहली लंदन में 1975 की दिखाई गई हैं जिनमें नील माफिया बने हैं। दूसरे कहानी 1999 के  मुम्बई पर आधारित है जिसके हिंदी संस्करण में स्पीडी सिंह के अभिनेता विनय विरमानी तमिल में जीवा मुख्य किरदार कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि तीसरी फिल्म 2010 के गोवा पर आधारित है जिसमें तमिल सुपरस्टार विक्रम और तब्बु हिंदी और तमिल दोनों संस्करण में हैं। नील का किरदार तमिल और हिंदी में समान है लेकिन अब तमिल फिल्म से उनका किरदार हटा दिया गया है।

हालांकि, नाम्बियार ने फिल्म से जुड़े इस तथ्य से इनकार नहीं किया है।

उन्होंने कहा कि नील को ‘डेविड’ के तमिल संस्करण से निकालने की खबर सही है। अब तमिल संस्करण हिंदी संस्करण से छोटा है। हिंदी फिल्म दो घंटे 30 मिनट की है और तमिल दो घंटे 10 मिनट की है।

नाम्बियार के मुताबिक फिल्म की रचनात्मकता को देखते हुए नील को बाहर रखा जा रहा है । उन्होंने कहा कि नील तमिल संस्करण पर ध्यान दे रहे थे लेकिन उन्हें कड़ी मेहनत करनी पड़ी। वह पूरी फिल्म के दौरान फिल्म के मजबूत स्तम्भ बने रहे। लेकिन इससे मदद नहीं मिल सकती। हालांकि, नील इस फैसले से खुश हैं।

उन्होंने कहा कि मेरे निर्माताओं द्वारा रचनात्मक फैसला लिया गया, मेरे निर्देशक और मुझे अपने किरदार को इससे हटाना है। इसलिए अब तमिल संस्करण विक्रम और जीवा की कहानी होगी, हिंदी संस्करण में विक्रम, विनय और मेरी, तीनों की कहानी होगी। मैं डेविड का इंतजार कर रहा हूं। नाम्बियार एक अद्भुत निर्देशक हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingललित मोदी माल्टा में, हो सकती है गिरफ्तारी
पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी के माल्टा में होने की खबर है। एक समाचार चैनल के मुताबिक उन्हें जल्द गिरफ्तार किया जा सकता है। ललित के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कार्नर नोटिस जारी कर रखा है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

कहां रखें पैसे
पत्नी: मैं जहां भी पैसा रखती हूं हमारा बेटा वहां से चुरा लेता है। मेरी समझ नहीं आ रहा कि पैसे कहां रखूं?
पति: पैसे उसकी किताबों में रख दो, वो उन्हें कभी नहीं छूता।