शुक्रवार, 18 अप्रैल, 2014 | 11:18 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    वाराणसी में अरविंद केजरीवाल का हुआ जोरदार विरोध  बेटे के हत्यारे को मां ने फांसी से बचाया शाह को मिली उत्तर प्रदेश में प्रचार करने की इजाजत  मुलायम का दावा, बोले मोदी कभी नहीं बनेंगे प्रधानमंत्री  सीडी बांटने पर कांग्रेस पर चुनाव आयोग करे कार्रवाई: उमा ईदी अमीन, हिटलर, मुसोलिनी की तरह हैं मोदी: सिंघवी उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल और छत्तीसगढ़ में रिकॉर्ड मतदान राजग की सरकार बनी तो सिर्फ मोदी प्रधानमंत्री: राजनाथ राहुल बतायें लोगों को कौन बना रहा मूर्ख: भाजपा मोदी मुठभेड़ मुख्यमंत्री और झूठ बोलने के आदी: चिदंबरम
 
डांस इंडिया डांस के लिए छोड़ा कॉलेज: राजस्मिता
नई दिल्ली, एजेंसी
First Published:23-04-12 03:42 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

देश भर से आए मंझे हुए माहिर डांसर्स को पीछे छोड़ डांस इंडिया डांस सत्र 3 के खिताब को अपने नाम करने वाली ओडिषा की राजस्मिता कार ने इस शो की तैयारी के लिए अपनी स्नातक की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी थी।

शनिवार को जी टीवी पर प्रसारित हुए इस शो के फाइनल में राजस्मिता ने प्रदीप गुरंग, राघव क्राकरोश और सनम कुमार जैसे प्रतिद्वंद्वियों को पछाड़ कर यह खिताब जीता।

डीआईडी तक के अपने सफर के बारे में बताते हुए राजस्मिता कहती हैं, यह एक मुश्किल सफर था। शो की तैयारी के लिए मैंने अपनी बीए छोड़ दी। मैं सुबह चार बजे उठकर तैयारी करती थी क्योंकि मैं डीआईडी जीतना चाहती थी। मैंने इसे एक चुनौती की तरह लिया। मैंने हिप हॉप स्टाइल और स्टंटों पर ज्यादा ध्यान दिया, क्योंकि मैं साबित करना चाहती थी कि लड़कियां भी स्टंट कर सकती हैं।

राजस्मिता तब से नृत्य सीख रही हैं जब वह महज आठ साल की थीं। स्टंट और हिप हॉप स्टाइल उन्होंने अमन नायक से सीखे। राजस्मिता हिप हॉप में तो दक्ष हैं ही साथ ही वह नृत्य की दूसरी विधाओं में भी काफी पारंगत हैं। उनके एक्सप्रेशंस को शो के निर्णायकों और जनता के साथ-साथ बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार ने भी पसंद किया।

राजस्मिता श्रीदेवी को अपना आदर्श मानती हैं। वह कहती हैं, मैं श्रीदेवी के नृत्य और उनके चेहरे के भावों की नकल करने की कोशिश अपने बचपन में करती थी। वे एक ही गाने में कई सारे भाव ले आया करती थीं। मैं भी अपने नृत्य में उन भावों को लाने की कोशिश करती हूं।

इस शो पर अपने बेहतर प्रदर्शन का श्रेय राजस्मिता मिथुन चक्रवर्ती और शो पर अपनी गुरू गीता कपूर को देती हैं। वह कहती हैं, मुझे इस शो से बहुत कुछ सीखने को मिला। शुरुआत में मैं कोई बहुत अच्छी नर्तकी नहीं थी लेकिन मिथुन दा और मेरी गुरू गीता मां ने मुझे बहुत प्रोत्साहित किया। मिथुन मुझे डार्क होर्स ऑफ द शो कहते थे। इस शो पर बिताए गए पल मेरे लिए सबसे बड़ी उपलब्धि हैं।

शो में भाग लेने वाले अन्य प्रतियोगियों के बारे में राजस्मिता ने कहा,  अभीक सबसे अच्छा था। मैंने उसके जैसा हुनरमंद कलाकार नहीं देखा। फिलहाल राजस्मिता अपनी पढ़ाई पूरी करना चाहती हैं और फिर वह अपने इलाके में लड़कियों के लिए एक डांस स्कूल भी खोलना चाहती हैं।

शो जीतने के बाद के अनुभव साझा करते हुए वह कहती हैं, मुझे खुशी है कि अब लोग मुझे नए सम्मान के साथ देखते हैं। मैं अपने इलाके में लड़कियों के लिए डांस स्कूल खोलना चाहती हूं। हमारे मुख्यमंत्री ने मुझे यह शो जीतने पर एक मकान भी उपहार में दिया है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
 
टिप्पणियाँ
 
Image Loadingनई पौध भी प्रचार के जरिए बना रही पहचान
महाराष्ट्र में लोकसभा चुनाव के लिए जारी प्रचार में राजनीतिक परिवारों के बाल-बच्चे भी शामिल हो रहे हैं। वे प्रचार के जरिए लोगों के बीच अपनी पहचान बना रहे हैं।
 
आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
आंशिक बादलसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 06:47 AM
 : 06:20 PM
 : 68 %
अधिकतम
तापमान
20°
.
|
न्यूनतम
तापमान
13°