रविवार, 01 फरवरी, 2015 | 18:44 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
दिल्ली को आगे बढ़ाना है तो भाजपा को पूर्ण बहुमत दीजिए : मोदीजहां झुग्गी होगी वहीं पक्का मकान बनाएंगे : मोदीशहर में ट्रफिक की समस्या का समाधान किरण बेदी करा देंगी : मोदीगरीबों को गरीब रखकर राजनीति हुई : मोदीचुनाव भी विकास के मु्द्दे पर लड़ता हूं और सरकार भी विकास के मुद्दे पर चलाता हूं : मोदीमेरे पास किताबी ज्ञान नहीं, लोगों की शक्ति की पहचान है : मोदीटीवी में जगह से सरकार नहीं चलती : मोदीयुवा देश का लाभ लेना मुझे आता है : मोदीअगर नसीबवाले से आपका पैसा बचता है तो बदनसीब की क्या जरूरत : मोदीमेरे नसीब से तेल-पेट्रोल सस्ता हुआ तो क्या बुरा है : मोदीआपने जो प्यार दिया अब मुझे वह ब्याज समेत लौटाना है : मोदीआंदोलन की आदत रखने वालों को सिर्फ टीवी में जगह चाहिए : मोदीदिल्ली को जिम्मेवार सरकार चाहिए : मोदीभागने से काम नहीं चलता, सरकार चलाना बड़ी जिम्मेदारी : मोदीरोज विरोधी सुबह उठकर सोचते हैं कि आज कौन सा झूठ फैलाया जाए : मोदीकांग्रेस-आप में झूठ बोलने की होड़ : मोदीकांग्रस-आप ने कुर्सी के लिए सौदा किया : मोदीहम समस्या दूर करने की सोचते हैं : मोदीदिल्ली से पानी का वादा पूरा किया : मोदीदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी ने रैली के दौरान कहा, मैं असली दिल्लीवाला हो गया हूंदिल्ली के द्वारका में पीएम मोदी की रैलीबीजेपी नफरत फैला रही है : सोनियाबीजेपी ने झूठे वादे किए, किसानों के सपने का क्या हुआ, काला धन वापस कहां आया : सोनियाहमने झुग्गीवालों को घर दिये : सोनियादिखावे की राजनीति करने वालों से सतर्क रहने की जरूरत : सोनियाबिहार के फारबिरगंज में काले झंडों के साथ अल्पसंख्यक समुदाय के हजारों लोगों ने किया प्रदर्शन, फांस की शार्ली एब्दो पत्रिका द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब का कार्टून छापने के विरोध में किया प्रदर्शन।
रविशंकर को लाइफटाइम अचीवमेंट ग्रैमी पुरस्कार
वॉशिंगटन, एजेंसी First Published:13-12-12 12:52 PM
Image Loading

मशहूर सितारवादक पंडित रविशंकर को लाइफटाइम अचीवमेंट ग्रैमी पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। प्रतिष्ठित ग्रैमी पुरस्कार प्रदान करने वाली रिकॉर्डिंग अकादमी ने गुरुवार को घोषणा की कि रविशंकर को यह पुरस्कार मरणोपरांत 10 फरवरी को लॉस एंजेलिस में आयोजित 55वें ग्रैमी पुरस्कार समारोह में प्रदान किया जाएगा।

पश्चिमी जगत में भारतीय शास्त्रीय संगीत को लोकप्रिय बनाने वाले और द बीटल्स जॉर्ज हैरिसन और यहूदी मेनुहिन पर प्रभाव रखने वाले रविशंकर की कैलीफोर्निया के ला जोला स्थित स्क्रिप्स मेमोरियल अस्पताल में ह्रदय संबंधी सर्जरी के बाद 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

रिकार्डिंग अकादमी ने एक बयान में कहा कि विश्व के सबसे प्रसिद्ध सितारवादक, तीन बार ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित रविशंकर अंतरराष्ट्रीय संगीत के सच्चे मायने में दूत हैं। उसने कहा कि संगीतकार, शिक्षक और लेखक के रूप में उन्हें भारतीय संगीत का पश्चिम में प्रचार-प्रसार करने के लिए जाना जाता है। उन्होंने कई दशकों के अपने करियर के दौरान बीटल्स, जॉन कोल्ट्रेन, फिलिप ग्लास और अपनी पुत्रियों नोरा जोंस और अनुष्का शंकर सहित कई संगीतकारों को प्रभावित किया।

बयान में कहा गया है कि एक मानवतावादी एवं परोपकारी रविशंकर ने वर्ष 1971 में जॉर्ज हैरिसन के साथ मिलकर बांग्लादेश के लिए एक संगीत कार्यक्रम का आयोजन किया। इसके बाद से ही धर्मार्थ कार्यों के वास्ते राशि एकत्रित करने के लिए संगीत कार्यक्रमों के आयोजन का मार्ग प्रशस्त हुआ।

लाइफटाइम ग्रैमी पुरस्कार से सम्मानित अन्य लोगों में ग्लेन गोल्ड, चार्ली हेडेन, लाइटनिन होपकिंस, कैरोल किंग, पैटी पेज शामिल हैं।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड