गुरुवार, 23 अक्टूबर, 2014 | 21:20 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
विशाल भारद्वाज और गुलजार फिर एक साथ
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:07-01-13 07:12 PM
Image Loading

निर्देशक विशाल भारद्वाज और गीतकार गुलजार अपनी फिल्म 'मटरू की बिजली का मंडोला' के जरिये एक बार फिर साथ आए हैं। गुलजार ने इस बार लूटनेवाले गीत के माध्यम से भूमि अधिग्रहण के मुद्दे को उठाया है।

भारद्वाज और गुलजार इससे पहले सात खून माफ, कमीने, इश्किया और ओंकारा जैसी फिल्मों में एक साथ काम कर चुके हैं। इन फिल्मों के लिए गुलजार ने बीड़ी जलइले और दिल तो बच्चा है जी जैसे गीत लिखे हैं।

इस बार भारद्वाज और गुलजार ने नये गीत के जरिये किसानों की दुर्दशा को संबोधित किया है। इस फिल्म की कहानी हरियाणा के एक गांव की पृष्ठिभूमि पर आधारित है। इस गीत के बोल इस प्रकार हैं, पानी पानी कुआं संभल, डोल डोल डोल डोल..पानी पानी कुआं संभल...जिसका माटी उसका माल। जिसकी खेती उसकी जमीन है..रे बाबाजी की धौंस नहीं है।...हट लूटनेवाले हट हट लूटनेवाले।

आगामी फिल्म मटरू.. कामेडी फिल्म है जिसमें इमरान खान, अनुष्का शर्मा और पंकज कपूर जैसे कलाकारों ने मुख्य भूमिकाएं निभाई हैं। यह फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होगी।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ