मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 19:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
यूपीः कांवड़ यात्रा में डीजे पर प्रतिबंध लगाये जाने के विरोध में मंगलवार देर शाम दससराय पुलिस चौकी के सामने हिंदू संगठनों ने जाम लगाकर नगर विकास मंत्री आजम का पुतला फूंका।
कला के क्षेत्र में आ रही हैं युवा प्रतिभाएं: जावेद
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:17-12-2012 05:11:44 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

बॉलीवुड के मशहूर गीतकार और लेखक जावेद अख्तर की मानें तो कला के क्षेत्र में आज ज्यादा से ज्यादा युवा आ रहे हैं और इसे एक पूर्णकालिक पेशे के रूप में अपना रहे हैं।

सुदीप रॉय की एकल प्रदर्शनी का उद्घाटन करने वाले अख्तर ने कहा कि लगभग हर रोज मुझे किसी न किसी प्रदर्शनी का निमंत्रण मिलता है जहां युवा कलाकार अपने हुनर का प्रदर्शन करते हैं। आखिरकार हमें यह अहसास हो ही गया है कि समृद्धि की दौड़ में हम कुछ खो रहे हैं। समाज में एक किस्म का पुनरुत्थान हो रहा है जो वाकई बहुत अच्छा है।

डिजाइन की दुनिया में काम कर चुके रॉय ने कहा कि अपने इस मौजूदा पेशे को पूर्णकालिक पेशे के रूप में अपनाने के लिए उन्हें शुरुआती सालों में परिवार की असहमति का सामना करना पड़ा, लेकिन साथ ही वह यह भी कहते हैं कि आजकल यह सोच बदल रही है।

रॉय कहते हैं कि कला की स्थिति भारत में पहले से ज्यादा बेहतर और परिपक्व है। मेरा परिवार शुरुआत में मेरे इस काम से खुश नहीं था, लेकिन आज मैंने अपने बेटे को भी इस क्षेत्र को चुनने की अनुमति दे दी है क्योंकि वह इस क्षेत्र को अपना पूर्णकालिक पेशा बनाना चाहता है।

वे चाहते हैं कि जो भी कला में रुचि रखता हो उसके साथ ऐसा ही होना चाहिए। वे कहते हैं कि मेरा यह भी मानना है कि बीते सालों के मुकाबले ज्यादा अवसर उपलबध होने की वजह से आज संघर्ष में कम समय लगता है। यह इसलिए भी है क्योंकि इस पेशे में ज्यादा से ज्यादा व्यवसायिकता आ रही है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।