class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

FILM REVIEW: पढ़ें कैसी है अब्बास के बेटे मुस्तफा की फिल्म 'मशीन'

FILM REVIEW: पढ़ें कैसी है अब्बास के बेटे मुस्तफा की फिल्म 'मशीन'

1/2 FILM REVIEW: पढ़ें कैसी है अब्बास के बेटे मुस्तफा की फिल्म 'मशीन'

बॉलीवुड के जाने-माने निर्देशक अब्बास-मस्तान ने बाजीगर, रेस जैसी शानदार फिल्में बनाई हैं। लेकिन अब्बास के बेटे मुस्तफा को लॉन्च करने के लिए बनाई फिल्म मशीन में वे थोड़ा चूक गए हैं।

रंश (मुस्तफा) को पहली ही नजर में सारा (कियारा आडवाणी) से प्यार हो गया है। दोनों साथ में एक साथ कॉलेज में पढ़ते हैं और रेसिंग के शौकीन हैं। लेकिन यह आम प्रेम कहानी नहीं है। प्यार हुआ इकरार हुआ और फिर दरार...इतनी गहरी कि अब्बास मस्तान की फिल्मों के मुरीद तुरंत कह सकते हैं, फलां दृश्य बाजीगर, फलां रेस और यह सूची जारी रह सकती है। अब्बास मस्तान ने अपनी सभी फिल्मों के सीन, सीक्वेंस उठाए और फिर मुस्तफा-कियारा के बीच खूबसूरती से फिट कर दिए। उनकी फिल्मों की सभी खासियत इस फिल्म में है। रेसिंग ट्रैक, तेज चलती कारें, चौंकाने के लिए एक-दो लोगों की एंट्री, प्यार, धोखा सब कुछ जितना आप सोच सकते हैं।

रंश को उसके पिता (रोनित रॉय) ने 21 साल तक दुनिया से छुपा कर रखा, एक खास मकसद से। उसकी दुश्मनी एक नहीं दो लोगों से समांतर। बेटा बिल्कुल आज्ञाकारी। कभी पिता से नहीं पूछा पिता के बदले सर क्यों बोलूं, जिससे प्यार करता हूं उसे रास्ते क्यों हटाऊं।

OOPS! 'खुद को कबाड़ इकट्ठा करने वाली समझती थीं अनुष्का'

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:machine movie review worst film of abbas mustan career