class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसर बोर्ड पर भड़की कोंकणा, कहा- बोर्ड का काम फिल्में बैन करना नहीं

सेंसर बोर्ड पर भड़की कोंकणा, कहा- बोर्ड का काम फिल्में बैन करना नहीं

'लिपस्टिक अंडर माय बुर्का' को सेंसर बोर्ड द्वारा बैन किए जाने के बाद अब उसकी अभिनेत्री कोंकणा सेन ने अपना विरोध जताया है। कोंकणा ने कहा है कि सेंसर बोर्ड को फिल्मों को बैन करना बंद करना चाहिए।

कोंकणा ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि सेंसर बोर्ड को फिल्मों को बैन करना चाहिए। उन्होंने कहा सेंसर बोर्ड का काम फिल्मों को सर्टिफेकेट देना है ना कि बैन करना। आप उसे सर्टिफिकेट दीजिये कि किस उम्र के लोग फिल्म देख सकते हैं। ये जरूरी है कि हम हर तरह की फिल्में देखें, खासकर ऐसी फिल्में जहां औरतों के गंभीर मुद्दों पर बात की जा रही हो।'

उन्होंने कहा कि यह दुख कि बात है कि दूसरी श्रेणी की फिल्में सेंसर बोर्ड से तुरंत पास हो जाती हैं, मगर इस तरह की सामाजिक समस्या पर आधारित फिल्मों को बैन कर दिया जाता है।

'लिपस्टिक अंडर माई बुर्का' ने जीता Glasgow Film Fest अवॉर्ड

बता दें कि सेंसर बोर्ड ने यह कहते हुए फिल्म को बैन कर दिया है कि इस फिल्म में आपत्तिजनक सीन्स और अपमानजनक शब्दों की भरमार है। सेंसर बोर्ड से प्रमाणपत्र ना पाने वाली यह फिल्म ग्लासगो फिल्म फेस्टिवल में ऑडियंस अवॉर्ड जीत चुकी है।

अब तो गुलमिया के ना ना...अनारकली के आइटम सॉन्ग में हैं 'विरोध के बोल'

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:konkona sen speaks on lipstick under my burkha board ban by censor board
From around the web