class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Review: इमोशंस और एक्शन से भरपूर है फिल्म 'लोगन'

Review: इमोशंस और एक्शन से भरपूर है फिल्म 'लोगन'

1/3Review: इमोशंस और एक्शन से भरपूर है फिल्म 'लोगन'

अमूमन सुपरहीरोज सीरीज का अंतिम भाग निराश करता है, लेकिन फिल्म लोगन इस मामले में बेहद अलग साबित हुई है। साल 2009 में फिल्म 'एक्स मैन ओरिजिन्स: वुल्वरिन' से शुरू हुई ये दास्तां साल 2013 में दि वुल्वरिन से आगे बढ़ी और इस साल 'लोगन' के नाम से अपने अंतिम पड़ाव में है। 

जाहिर है लोगन या कहिये वुल्वरिन की विदाई पर उसके चाहने वालो को इससे थोड़ा दुख हो रहा होगा कि वुल्वरिन हमेशा के लिए जा रहा है, लेकिन ये फिल्म देख कर उन्हें दुख से बजाए उस पर गर्व होगा, क्योंकि पचास के पार होने जा रहे अभिनेता ह्यू जैकमैन इस फिल्म में अपने अब तक के सबसे बेहतरीन अवतार में दिखे हैं। उन पर लोगन का गैटअप एंग्री मैन के रूप में बहुत फबा है। इस फिल्म में उनका जोश और गुस्सा, एक्समैन सीरिज के सबसे शानदार रूप में दिखा है। वो एक बलशाली गुस्सैल सुपरहीरो बने हैं, जिस पर जिम्मेदारी है और भरोसा भी। 

Review: यहां पढ़ें कैसी है 'जीना इसी का नाम है'

जानें क्या है कहानी

ये कहानी 2029 के दौर को दिखाती है। लोगन (ह्यू जैकमैन) की उम्र अब बढ़ रही है। लेकिन अपनी बातों को लेकर उसके इरादे पहले की तरह ही बुलंद हैं। यहां टैक्सस में लोगन एक ड्राइवर का काम कर रहा है। वह अब थका-थका सा रहता है, कभी-कभी सहमा सा भी और उसकी ये हालत एक जहर की वजह से हुई है। उसे बहुत सारी दवाएं लेनी पड़ती हैं, जिसका इंतजाम भी उसे खुद ही करना पड़ता है। एक पुराना म्यूटेंट कैलिबन (स्टीफन मर्चेन्ट) भी लोगन के साथ ही रहता है। कैलिबन के पास दूसरे म्यूटेंट्स को पहचानने और सूंघने की अद्भुत क्षमता है। लोगन के साथ मिल कर वह अब जेवियर (पैट्रिक स्टीवर्ट) का भी ध्यान रखता है। ये सब मैक्सिको बॉर्डर के पास एक स्लम जैसी जगह पर अपनी जिंदगी गुजार रहे हैं। 

FILM REVIEW: फिल्म देखने से पहले पढ़ें कैसी है विद्युत की 'कमांडो 2'

अगली स्लाइड में पढ़ें आगे की कहानी

Next
  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:film review emotions and the action movie logan