शुक्रवार, 03 जुलाई, 2015 | 04:40 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    रैना बोले कभी गलत कामों में शामिल नहीं रहा, ललित मोदी के खिलाफ करेंगे कानून कार्रवाई सात दिन बाद केदारनाथ यात्रा शुरू, बदरीनाथ अभी भी ठप एल्गिन चरसडी बंधे में दरार, 72 गांवों पर भयावह बाढ़ का खतरा किरण को पीएम ने किया सम्मानित, 5000 लोगों का बनाया डिजिटल लॉकर VIDEO: देखें रांची में अनूप चावला को कैसे मारी गई गोली  कमल किशोर भगत को हाईकोर्ट से मिली जमानत ब्रजघाट: गंगा में फंसे दिल्‍ली के परिवार को बचाया गया रिजिजू मामले को लेकर हरकत में आई सरकार, उड़ानों में देरी पर नागरिक उड्डयन मंत्रालय से मांगी रिपोर्ट 2 लाख करोड़ की अपनी जायदाद दान करने वाला है ये शख्स गांवों में हाईस्पीड ब्राडबैंड पहुंचाने की योजना को हाथोंहाथ ले रहे हैं राज्य
वेस्ट की निजी क्रीम बनाम ईस्ट के सरकारी कॉलेज
मनीष शुक्ल, कानपुर First Published:02-04-10 03:22 PMLast Updated:02-04-10 03:23 PM

यूपी में नए प्राविधिक विश्वविद्यालय के श्रीगणेश के साथ ही मेधा का बंटवारा भी शुरू हो गया है। अगले सत्र की इंजीनियरिंग क्लास रूम में पूरब और पश्चिम की बार्डर लाइन आसानी से नजर आएगी। मई के पहले सप्ताह में फर्स्ट ईयर-टू फाइनल ईयर फेकेल्टी और छात्रों के समूचे ई-बंटवारे की इबारत लिख दी जाएगी।

इसके साथ एक्सीलेंस दर्जे में शामिल टॉप निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों की मेधा नोएडा के प्राविधिक विश्वविद्यालय से जुड़ जाएगी, जबकि प्रदेश के मध्य और पूर्व क्षेत्र के 13 मंडलों में गिनती के ही टाप कालेज एसईई-2010 काउंसिलिंग में प्रतिभाओं की च्वाइस बन सकेंगे। यानी एचबीटीआई कानपुर, आईईटी लखनऊ और एमएमईसी गोरखपुर समेत सरकारी संस्थानों की सीमित च्वाइस से ही टापरों को संतोष करना होगा। वहीं नोएडा में मौजूद कारपोरेट कंपनियों के लिए मानव संसाधन की उपलब्धता थोड़ी और आसान हो जाएगी।

विशेषज्ञों के अनुसार यूपीटीयू के बंटवारे के साथ आईबीएम, इनफोसिस जैसी मल्टीनेशनल कंपनियों के लिए प्रोफेशनल्स के चुनाव के लिए ज्यादा और आसान विकल्प होंगे। नोएडा, गाजियाबाद में कारपोरेट दफ्तरों और निजी इंजीनियरिंग कालेजों की लम्बी चौड़ी फेहरिस्त से प्रस्तावित नई यूनिवर्सिटी के लिए कैम्पस इंटरव्यू की राह आसान होगी।

पश्चिम के निजी कॉलेज
-काइट, गाजियाबाद
-जेएसएस, नोएडा
-एकेजी, गाजियाबाद
-गलगोटिया, ग्रेटर नोएडा
-इंद्रप्रस्थ, गाजियाबाद

पूरब के सरकारी कॉलेज
-एचबीटीआई, कानपुर
-आईईटी, लखनऊ
-एमएमईसी, कानपुर
-केएनआईटी, सुल्तानपुर
-बीआईईटी, झांसी

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingरैना बोले कभी गलत कामों में शामिल नहीं रहा, ललित मोदी के खिलाफ करेंगे कानून कार्रवाई
एक व्यवसायी से रिश्वत लेने के ललित मोदी के आरोपों को खारिज करते हुए भारतीय क्रिकेटर सुरेश रैना ने आज कहा कि वह पूर्व आईपीएल आयुक्त के लिये कानूनी कार्रवाई करने पर विचार कर रहे हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड