गुरुवार, 24 अप्रैल, 2014 | 08:50 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आईपीएल-7 : कोहली, गंभीर आज होंगे आमने-सामने अफ्रीका में ट्रेन दुर्घटना में 60 मरे मतदान लाइव: जमीं पर उतरे फिल्मी दुनिया के सितारे...वोट डाला केजरीवाल के इस्तीफे ने पार्टी की संभावना धूमिल की: सिसोदिया मोदी के पाकिस्तान संबंधी टिप्पणी से उत्साहित हैं पाक उच्चायुक्त हिन्दुस्तान के वोट की चोट कार्यक्रम के तहत धनबाद कैंडल-मार्च आयोग ने आजम खान को फिर भेजा कारण बताओ नोटिस गिरफ्तारी वारंट के बाद राजद सांसद प्रभुनाथ सिंह लापता पीसीएस-14 के 300 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू मोदी रोड शो के बाद करेंगे वाराणसी में नामांकन दाखिल
 
इस सूर्योदय की सलामी में
उर्मिल कुमार थपलियाल
First Published:04-01-13 07:34 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

एक, दो, तीन, चार, पांच, छह, सात, आठ, नौ, दस, ग्यारह, बारह, तेरह.. नाच नाचकर माधुरी दीक्षित कब से बुला रही थी। अब जब सन तेरह आ गया, तो माधुरी खुद सीन से गायब हैं। इससे तो यही सिद्ध होता है कि हरजाई कभी रजाई नहीं ओढ़ते, ताकि जब चाहें, दगा देकर निकल लें। यह तो तय है कि अब की बार के जाड़ों में युवा आक्रोश ने पुलिस व प्रशासन, दोनों को कनटोपा पहना दिया है। भ्रष्टाचार वाले एजेंडे में अब बलात्कार है। सरकार ने भी बता दिया है कि कैरेक्टर जाए भाड़ में, इन दिनों पॉलिटिकली करेक्ट होना जरूरी है। नए साल की बलिहारी है। मधु-कैटभ व शुंभ-निशुंभ तक कुंभ नहाने जा रहे हैं। क्या सपा, क्या बसपा। सरकार से खफा होने पर दोनों का नफा। विपक्ष का आचरण ही यही है कि ‘कथनी, करनी गायब बातें बड़ी-बड़ी। भुस में आग लगाय जमालो दूर खड़ी।’ हमारे देश के राजनीतिक वयोवृद्धों का क्या? एन डी तिवारी का कहना है कि- ‘गो हाथ में जुंबिश नहीं, आंखों में तो दम है। रहने दो अभी सागर-ओ-मीना मेरे आगे।’ कुछ राजनेता होते हैं, जिनका बुढ़ापा कथक महाराजों जैसा मजे से कटता है।

सन चौदह को देखते हुए राजनीति की कोचिंग क्लासेज शुरू हो गई हैं। कुछ सनकी और व्यवस्था विरोधी नारेनुमा गीत गाने में लगे हैं कि ‘जिस देश में बकैती रहती है। जिस देश में दंगे रहते हैं। हम उस देश के वासी हैं। जिस देश में नंगे रहते हैं।’ अब ऐसे विघ्नसंतोषियों का जब फास्ट फूड कुछ नहीं कर सका, तो फास्ट ट्रैक क्या कर लेगा?
कुछ भी हो, नए साल के पांव भारी लगते हैं। लगता है कि युवा शक्ति सरकार के आसमान में धान बोकर रहेगी। चिराग का जिन्न बाहर निकला है, तो कुछ न कुछ तो करेगा ही। यह तो उत्तर आधुनिक उत्साह है, जो जड़ीले शलजमों को उखाड़ने में लगा है। कृष्ण भले ही अपनी द्वारिका में बिजी हों, लेकिन इस बार उन्हें फिर से कौरव सभा में कांपती द्रौपदी की मदद करनी ही होगी। यह नई शक्ति, नए उत्साह, हिम्मत और साहस का नवोदय है। किसे पता था कि युवा जनशक्ति का सूर्योदय इस दम-खम के साथ होगा? इस नए सूर्य को सलाम!

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
Image Loadingमतदान लाइव: जमीं पर उतरे फिल्मी दुनिया के सितारे...वोट डाला
लोकसभा चुनाव के छठे दौर में आज 117 सीटों पर मतदान हो रहा है। लोकसभा चुनाव के इस दौर में असम, बिहार, छत्तीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, झारखंड, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, पुड्डुचेरी, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तरप्रदेश और पश्चिम बंगाल में वोट डाले जा रहे हैं।
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
आंशिक बादलसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 06:47 AM
 : 06:20 PM
 : 68 %
अधिकतम
तापमान
20°
.
|
न्यूनतम
तापमान
13°