शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 13:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मुरादाबाद में फर्जी ड्राइविंग लाइसेंस से नौकरी पाने में रोडवेज के छह ड्राइवरों पर केस कार्यालय अधीक्षक ने इन सभी चालकों के खिलाफ कराई एफआईआरबरेली - भोजीपुरा में पुलिस की पिटाई से गर्भवती महिला की हालत बिगड़ी, गंभीरप्रतापगढ़- 102 एंबुलेंस ने दो महिलाओं को रौंदा, मौतरामपुर में मोबाइल शॉप से 13 लाख की चोरी, गैस बेल्डिंग मशीन से ताले काटकर दिया घटना को अंजामयूपी - निगोही में पुलिस की गाड़ी पर पशु तस्‍करों ने ट्रक चढ़ायाशाहजहांपुर - कलान में गुंडा एक्ट में निरुद्ध होने से नाराज युवक टावर पर चढ़ापीलीभीत - बिलसंडा में चुनावी रंजिश को पूर्व प्रधान के भाई-बेटे की हत्‍याबुलंदशहर- जिले के स्याना क्षेत्र के गांव थल ईनायतपुर में गुरुवार की रात घर में सो रहे सेवानिवृत्त फौजी सतवीर 62 वर्ष की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई। हत्या के कारण का पता नहीं चल सका है। हत्या की वारदात से क्षेत्र में दहशत है। सूचना पर कोतवाली स्याना से पुलिस पहुंची। पुलिस जांच में जुटी है।जमशेदपुर- बिस्टुपुर बाज़ार के अंदर के दुकानदारों नें शुक्रवार को अपनी दुकानों को बंद रखा है। बाज़ार में चले प्रशासन के अतिक्रमण हटाओ अभियान के खिलाफ यह कदम उठाया गया है।झारखंड- कोडरमा के नवलशाही इलाके के धोबियाघाट से शुक्रवार को पुलिस ने एक सौ पीस पावर जिलेटिन बरामद किया है।
शिकायत और शर्त
लाजपत राय सभरवाल First Published:04-12-2012 07:24:19 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

हम कई बार शिकायत करते हैं कि सब कुछ हमारे मन के मुताबिक नहीं हो रहा। हम जो चाहते हैं, वह नहीं होता है। अपेक्षा करते हैं, पूरी नहीं होती है, और इसी सबसे शुरू होती है शिकायत। यह प्रत्यक्ष अस्तित्व में होती नहीं है, परंतु परेशान बहुत करती है। यह आभासी चुभन हमें कभी चैन से रहने नहीं देती है। कोई हमारे लिए कितना भी करे, हम शिकायत के कटु व्यंग्य को रोक ही नहीं पाते। औरों को छलनी तो करते ही हैं, हम भी इस असहनीय पीड़ा से त्रस्त रहते हैं। कहा जाता है कि अगर शिकायती के चरणों में तीनों लोक का वैभव भी रख दिया जाए, तो भी वह उसमें कुछ नुक्स निकाल ही लेगा। कोई मिला नहीं कि पूर्व नियोजित शिकायतों का पुलिंदा खोलकर रख देते हैं। हमारी शिकायत औरों से होती है, संबंधों और रिश्तों से होती है। यहां तो ठीक है, कई बार यह खुद से भी होती है।

ऐसे व्यक्ति हमेशा ही शर्तों का, उम्मीदों का, अपेक्षाओं का पहाड़ खड़ा करते हैं, जिनके पूरा न होने पर शिकायतें पनपती हैं। संत और साधु शिकायत नहीं करते और न कोई शर्त रखते हैं। संत का तात्पर्य ही है, कष्टों, मुसीबतों और संभावनाओं में भी शांतभाव से रहकर किसी तरह की शिकायत किए बिना जन-कल्याण में लगे रहना। साधु का अर्थ है, शर्तो से परे अपनी साधुता को सेवा के महायज्ञ में सतत समर्पित करते रहना। सच्चे साधु-संतों के जीवन में शिकायत और शर्त का अंश मात्र भी नहीं रहता।

लेकिन एक इंसान आखिर शिकायत और शर्त से मुक्त कैसे हो? शिकायत से मुक्ति की एक शर्त है, प्यार बांटें, सम्मान बिखेरें, अपनापन लुटाएं। ये अनमोल थाती हैं, जिन्हें भगवान ने हमें मुक्तहस्त से प्रदान किया है और हम भी इसे खुले हाथों बांटें। आगे बढ़ें, तो दूसरों को साथ लेकर चलें। और रुकें, तो सबको छाया देने वाला बरगद बन जाए। फिर कोई शिकायत नहीं बचेगी।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingकेरल में नया आशियाना बसाएंगे मास्टर ब्लास्टर सचिन
क्रिकेट के ‘भगवान’ कहे जानें वाले मास्टर ब्लास्टर बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने तटीय राज्य केरल में एक खूबसूरत और आलीशान खरीदने पर विचार कर रहे हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।