शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 11:34 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बरूराज से राजद विधायक ब्रजकिशोर सिंह आज भाजपा में होंगे शामिल।उत्तर प्रदेश: बदायूं में बिसौली-सहसवान रोड पर टेम्पो पलटा, 2 की मौत, शनिवार सुबह दस बजे हुआ बड़ा हादसा, दुर्घटना में आठ लोग हो गए गंभीर घायल, मृतकों में ड्राईवर रामकिशोर और सवारी शेलेन्द्र, बहन से राखी बंधवाने जा रहा था रसूलपुर शैलेन्द्र।बिहारीगंज से जदयू विधायक रेणू कुशवाहा के भाजपा में शामिल होने की सूचना, पटना में आज शामिल हो सकती हैं।जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना के हथियार डिपो के पास विस्फोट, एक दर्जन से ज्यादा जवानों के जख्मी होने की खबर।
सम्मान की लड़ाई और लड़ाकों का कंफर्ट जोन
नीरज बधवार First Published:29-11-2012 10:41:56 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

‘अहं’ आहत होने पर इंसान सम्मान की लड़ाई लड़ता है। वजूद को बचाए रखने के लिए लड़ाई जरूरी है, इसलिए लड़ने से पहले बहुत सावधानी से इस बात का चयन कर लें कि आपको किस बात पर ‘अहं’ आहत करवाना है।

दुनिया अगर इस बात के लिए भारत को लानत भेजती है कि सवा अरब की आबादी में एक भी शख्स ऐसा नहीं, जो सौ मील प्रति घंटा की रफ्तार से गेंद फेंक पाए, तो आपको यह सुनकर हर्ट नहीं होना है। भले आप मोहल्ले के ब्रेट ली क्यों न कहलाते हों। सम्मान की लड़ाई आपको यह सुविधा देती है कि दुश्मन भी आप चुनें और रणक्षेत्र भी। इसलिए जिस गली में आप क्रिकेट खेलते हैं, उसे रणक्षेत्र मानें और जिस मरियल से लड़के से आपको बेबात की चिढ़ है, उससे कहिए, तेरे को तो मैं बताऊंगा, तू जरा बैटिंग करने अइयो!

यह ऐसा नुस्खा है, जिसे आप कहीं भी लागू कर कुछ ढंग का न कर पाने के व्यर्थता बोध से मुक्त हो सकते हैं। मसलन, आपकी बिरादरी का कोई भी लड़का अगर आठ-दस कोशिशों के बाद भी दसवीं पास नहीं कर पा रहा, आपके समाज में बच्चों के दूध के दांत भी तंबाकू खाने से खराब हो जाते हैं, तो इन सबसे आपके माथे पर शिकन नहीं आनी चाहिए। पढ़ने के लिए, कुछ रचनात्मक करने के लिए आपको दुनिया से लोहा लेना होगा और यह आपसे नहीं होगा, आप तो पूरी जिंदगी पार्क की बेंच का लोहा बेचकर दारू पीते रहे हैं।

दुश्मन के इलाके में जाकर हाथ-पांव तुड़वाने से अच्छा है कि अपने ही इलाके में दुश्मन तलाशिए। ऐसे में, औरत और प्रेमियों से आसान शिकार भला और कौन होगा? आप कह दीजिए.. आज से लड़कियां मोबाइल इस्तेमाल नहीं करेंगी, जिन्स नहीं पहनेंगी। लड़के-लड़कियां प्यार नहीं करेंगे। फरमान सुनाते जाइए और धमकी भी दे दीजिए कि किसी ने अगर ऐसा किया, तो फिर देख लेंगे। इन फरमानों को अपने ‘अहं’ से जोड़ लीजिए। औरत जात आपसे लड़ नहीं सकती। दो लोग पूरे समाज से भिड़ नहीं सकते। ऐसा करते जाइए, क्योंकि सम्मान की लड़ाई का इससे बेहतर कम्फर्ट जोन आपको कहीं और नहीं मिलेगा।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को तीसरा झटका, कोहली आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरा निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना तीसरा विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।