class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल पर भारी दर्द निवारक

क्या दर्द के लिए ली गई एक आम गोली दिल के दौरे यानी हार्ट अटैक की वजह बन सकती है? एक नया अध्ययन तो यही बताता है। कार्डियोवैस्क्युलर फार्माकोथेरेपी  नाम के प्रतिष्ठित मेडिकल जर्नल में छपे इस अध्ययन में कहा गया है कि दर्द-निवारक दवाएं दिल के दौरे का खतरा बढ़ा सकती हैं। कई दर्द-निवारक दवाएं डॉक्टर के परचे के बिना भी आराम से खरीदी जा सकती हैं। 

दर्द शांत करने वाली ऐसी दवाओं की श्रेणी को नॉन ‘स्टेरॉयडल एंटी इन्फ्लेमेटरी ड्रग्स’ कहा जाता है। अध्ययन के मुताबिक, इन दवाओं से दिल के दौरे का खतरा 31 फीसदी तक बढ़ते देखा गया है। इन दर्द-निवारक दवाओं के इस्तेमाल और दिल के दौरे के संबंध को जांचने के लिए शोधकर्ताओं ने डेनमार्क में 28,947 मरीजों का अध्ययन किया। इन सभी मरीजों को दिल का दौरा पड़ा था। रिसर्च टीम ने इनका मेडिकल इतिहास खंगाला। उन्होंने पाया कि इनमें से 3,376 ऐसे थे, जिन्होंने दिल के दौरे से पहले दर्द-निवारक दवाएं खाई थीं। कई मरीजों ने तो एक महीने तक इनका सेवन किया था। 

अध्ययन के नतीजे बताते हैं कि इनसे दर्द भले ही शांत हो जाए, पर बड़ा जोखिम बढ़ जाता है। यही वजह है कि अब मांग हो रही है कि इन दवाओं को खरीदने के लिए डॉक्टर का सुझाव अनिवार्य कर दिया जाए।
 सत्याग्रह वेब पोर्टल से

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:heavy painkiller on the heart