शुक्रवार, 19 दिसम्बर, 2014 | 13:28 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
पाकिस्तान ने आतंकियों के हाथों बच्चों की निर्मम हत्या किए जाने के दो दिन बाद ही लखवी को जमानत पर रिहा कर समूची मानवता को सदमा पहुंचाया है :मोदीपाकिस्तान में सेना प्रमुख जनरल राहिल शरीफ ने छह आतंकवादियों की मौत की सजा देने संबंधी वारंट पर हस्ताक्षर किए
इनवर्टर के लिए
First Published:10-05-10 08:58 PMLast Updated:10-05-10 09:38 PM

गर्मी के मौसम में बिजली कुछ ज्यादा ही आंखमिचोली करती है। ऐसे में पावर इनवर्टर का दुरुस्त रहना जरूरी है। इनवर्टर की सही देखभाल के चंद जरूरी नुस्खे:
पावर इनवर्टर का काम डायरेक्ट करेंट (डीसी) को अल्टरनेट करेंट (एसी) में बदलना होता है। ज्यादातर इनवर्टर 12 वोल्ट डीसी पावर को 120 वोल्ट एसी पावर में बदलते हैं। बिजली कटौती की स्थिति में पावर इनवर्टर की सहायता से आप अपने घर में मौजूद इलेक्ट्रनिक उपकरणों को कार की बैटरी या किसी अन्य डीसी सोर्स की सहायता से भी चला सकते हैं। बिजली पर खर्च को कम करने के लिए इस समय सोलर पावर इनवर्टर भी बाजार में मिल रहे हैं। ये बिजली की बजाय सूरज की ऊर्जा से चार्ज होते हैं। सौर ऊर्जा डायरेक्ट करेंट (डीसी) पैदा करती है, उसे एसी में बदलने के लिए पावर इनवर्टर की जरूरत पड़ती है। इस तरह के पावर इनवर्टर को ग्रिड-टाई या ग्रिड इनवर्जन कहा जाता है।
- आपको इनवर्टर का ऐसा मॉडल लेना चाहिए जो पावर का लंबा बैकअप दे सकते हों। कम दाम पर ध्यान देने से ज्यादा जरूरी है कि बेहतर क्वालिटी का इनवर्टर लें और उसके बारे में तमाम जरूरी बातें जान लें। खासतौर पर मशीन और बैट्री की क्षमता पर ध्यान दें। कई विकल्प हैं, जरूरत और बजट के मुताबिक मॉडल चुनें। 
- इनवर्टर और केबल को ज्वलनशील पदाथोर्ं से दूर रखें। गैस, तेल या किसी और ज्वलनशील पदार्थ के पास रहने पर इनवर्टर में आग का खतरा रहता है।
- इनवर्टर को बच्चों और पालतू जानवरों की पहुंच से दूर रखें। 
- इनवर्टर के कनेक्शंस के लिए रबड़ इंस्युलेटेड वायर का ही प्रयोग करें, नहीं तो ये खतरनाक साबित हो सकते हैं।
- इसे समतल जगह पर रखें। गीले पदार्थ को इनवर्टर के संपर्क में न आने दें। मौसम की नमी से इनवर्टर को बचाकर रखें ।
- इनवर्टर में भरोसे की बैटरी का प्रयोग करें। बैटरी चेक करने के बाद ही इनवर्टर से कनेक्ट करें। पहले यह सुनिश्चित कर लें कि बैटरी फुल चार्ज और बढिया कंडिशन में है।
- इनवर्टर को हवादार स्थान पर रखें। चेक कर लें कि इनवर्टर में इंटर्नल फैन लगा है या नहीं।
- एल्युमीनियम वायर का रेजिस्टेंस कॉपर वायर की तुलना में ज्यादा होता है, इसलिए कॉपर वायर ही प्रयोग करें।

 

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड