रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 00:24 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
गाजीपुर रोड पर गाड़ियों पर लदे जानवर मिलने से बवाल, लगाया जाम।
झारखंड के मुख्यमंत्री का इस्तीफा, राष्ट्रपति शासन के आसार
रांची, एजेंसी First Published:08-01-2013 02:01:55 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

झारखंड के मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा ने उनकी सरकार से सहयोगी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के समर्थन वापस लेने के बाद आज राज्यपाल सैयद अहमद से भेंटकर अपना इस्तीफा सौंप दिया और इसके साथ ही उन्हें विधानसभा भंग करने की सिफारिश करने के राज्य मंत्रिमंडल के फैसले से अवगत कराया।
    
मुंडा ने राजभवन में राज्यपाल से भेंट के बाद संवाददाताओं से कहा कि मैंने राज्यपाल को विधानसभा भंग करने की सिफारिश करने के अपने फैसले से अवगत करा दिया और इसके साथ ही उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया।
    
उन्होंने कहा कि हमने लगभग दो साल तक राज्य में स्थिर सरकार चलायी, लेकिन अब जब अस्थिरता के आसार नजर आने लगे तो हमें लगा कि यह नये सिरे से जनता के पास जाने का समय है और इसलिये विधानसभा भंग करने की सिफारिश कर दी।
    
मुंडा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि उनकी सरकार ने जब मंत्रिमंडल की बैठक में विधानसभा भंग करने की सिफारिश करने का फैसला किया था तब वह अल्पमत में नहीं थी। उन्होंने कहा कि औपचारिक तौर पर समर्थन वापसी के बाद ही कोई सरकार अल्पमत में आती है।
    
उनसे पूछा गया था कि क्षामुमो के समर्थन वापसी के बाद उनकी सरकार अल्पमत में आ गयी थी, ऐसे में राज्यपाल को विधानसभा भंग करने की सिफारिश कोई अल्पमत की सरकार कैसे कर सकती है। राज्यपाल पर अल्पमत की सरकार की सिफारिश मानने की कोई बाध्यता नहीं होती।
    
मुख्यमंत्री के साथ उनके सहयोगी दल आजसू के मंत्री चन्द्र प्रकाश चौधरी, जदयू के गोपाल कृष्ण पातर उर्फ राजा पीटर और भाजपा के मंत्री सत्यानंद झा एवं अन्य भाजपा विधायक भी थे।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!