शुक्रवार, 24 अक्टूबर, 2014 | 23:36 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नरेंद्र मोदी की चाय पार्टी में नहीं शामिल होंगे उद्धव ठाकरे भूपेंद्र सिंह हुड्डा की बढ़ सकती हैं मुश्किलें  कालेधन पर राम जेठमलानी ने बढ़ाई सरकार की मुश्किलें जमशेदपुर से लश्कर का आतंकवादी गिरफ्तार  कोई गैर गांधी भी बन सकता है कांग्रेस अध्यक्ष: चिदंबरम भाजपा के साथ सरकार के लिए उद्धव बहुत उत्सुक: अठावले रांची : एंथ्रेक्स ने ली सात लोगों की जान, 8 गंभीर हालत में भर्ती भारत-पाक तनाव के लिये भारत जिम्मेदार : बिलावल भुट्टो अमेरिकी विदेश विभाग में पहली बार मनी दीवाली एनआईए प्रमुख ने बर्दवान विस्फोट की जांच का जायजा लिया
सीमा लांघ पाक सेना ने मारे दो जवान
जम्मू, एजेंसियां First Published:08-01-13 11:35 PM

पाकिस्तान के कुछ सैनिक मंगलवार को भारतीय सीमा में घुस आए और गश्ती दल पर हमला बोल दिया। उन्होंने दो सैनिकों की गला काटकर हत्या कर दी और उनमें से एक का सिर साथ ले गए। कारगिल हमले के बाद संभवत: यह पहला मौका है जब पाकिस्तानी सैनिकों ने भारतीय सीमा में इस तरह घुसपैठ की।

जानकारी के मुताबिक पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा से सटे क्षेत्र में हुए इस हमले में पाकिस्तानी सैनिक करीब 100 मीटर तक भारतीय सीमा में घुस आए। उन्होंने दो लांस नायकों हेमराज और सुधाकर सिंह की हत्या करने के अलावा दो अन्य सैनिकों को घायल कर दिया। सूत्रों ने बताया कि इस क्रूर हमले के दौरान पाकिस्तानी सैनिकों ने कथित रूप से दो सैनिकों के सिर काट दिए।

इस बीच सेना ने भारतीय सैनिकों के मौत की पुष्टि की है लेकिन इस रिपोर्ट पर टिप्पणी नहीं की कि उनके सिर काट दिए गए हैं। सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तानी सेना की बॉर्डर एक्शन टीम के सैनिकों ने पुंछ जिले के कृष्णा घाटी इलाके में भारतीय सीमा में प्रवेश किया और हमला किया।

उधमपुर स्थित सेना की उत्तरी कमान ने एक बयान जारी कर इस हमले को लगातार किए जा रहे संघर्ष विराम के उल्लंघनों और पाकिस्तानी सेना द्वारा समर्थित घुसपैठ के प्रयासों में महत्वपूर्ण इजाफा करार दिया है। सेना ने कहा, पाकिस्तानी सैनिक जंगल इलाके में कोहरे और धुंध का फायदा उठाते हुए हमारे पोस्ट की ओर बढ़ रहे थे कि तभी एक सतर्क गश्ती दल ने उन्हें देख लिया और घुसपैठियों के साथ भिड़ गए। बयान के मुताबिक, पाकिस्तानी और हमारे सैनिकों के बीच यह गोलीबारी करीब आंधे घंटे चली जिसके बाद घुसपैठिये नियंत्रण रेखा को पारकर वापस अपनी ओर चले गए।

घटना के संबंध में विदेश मंत्रलय, रक्षा मंत्रालय के साथ संपर्क में है। पाक सेना की ओर से संघर्ष विराम के उल्लंघन के मामलों में तेजी आई है जो खराब मौसम का फायदा उठाकर उग्रवादियों को भारतीय सीमा में भेजने की कोशिश कर रही है। पिछले एक महीने में पाक सेना ने 12 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है।

 
 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ