गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 20:43 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं कालेधन मामले में सभी दोषियों की खबर लेगा एसआईटी: शाह एनसीपी के समर्थन देने पर शिवसेना ने उठाये सवाल 'कम उम्र के लोगों की इबोला से कम मौतें'  श्रीलंका में भूस्खलन में 100 से अधिक लोग मरे स्वामी के खिलाफ मानहानि मामले की सुनवाई पर रोक मायाराम को अल्पसंख्यक मंत्रालय में भेजा गया
शिक्षक ने किया छात्र से दुष्कर्म
फरीदाबाद, वरिष्ठ संवाददाता First Published:07-01-13 11:31 PM

हरियाणा में फरीदाबाद के गोंच्छी गांव स्थित सरकारी स्कूल में एक कंप्यूटर शिक्षक ने दसवीं कक्षा की छात्र को अपनी हवस का शिकार बना डाला। घटना के बाद आरोपी शिक्षक ने इस संबंध में परिजनों को बताने पर उसे जान से मारने की धमकी भी दी। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक, प्रतापगढ़ गांव की निवासी यह 15 वर्षीय किशोरी गोंच्छी गांव स्थित सरकारी स्कूल में पढ़ती है। उसके ही गांव का 27 वर्षीय देवेंद्र कुमार इस स्कूल में कंप्यूटर विषय का गेस्ट टीचर है। स्कूल में ड्यूटी पूरी होने के बाद वह गोंच्छी गांव में मोबाइल रिपेयरिंग की दुकान भी चलाता है।

पीड़िता के अनुसार, गत 4 जनवरी को शिक्षक देवेंद्र कुमार उसे घर से मोटरसाइकिल पर बैठाकर स्कूल में 26 जनवरी के कार्यक्रम की तैयारी का बहाना बनाकर गोंच्छी गांव ले आया। शाम करीब तीन बजे वह उसे स्कूल के बजाय अपनी दुकान पर ले गया और वहां उसे बंधक बना लिया।

आरोप है कि बंधक बनाने के बाद शिक्षक देवेंद्र ने छात्र से दुष्कर्म किया। इस बारे में किसी को बताने पर आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी दी। संजय कॉलोनी पुलिस चौकी प्रभारी अनिल कुमार ने बताया कि पीड़ित छात्र ने धमकी के डर से दो दिन तक अपने परिजनों को इस घटना के संबंध में कोई जानकारी नहीं दी। मगर, बाद में उसने हिम्मत जुटाकर परिजनों के सामने पूरी घटना बयां कर दी।

उसके बाद पीड़िता के परिवारवाले पुलिस चौकी पहुंचे और दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया है।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ