शुक्रवार, 19 दिसम्बर, 2014 | 17:45 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
ऊंचाहार एक्सप्रेस में दो भाइयों से लूट, चाकू मारावित्त मंत्री अरुण जेटली ने लोकसभा में पेश किया जीएसटी बिलअरुण जेटली ने कहा, जीएसटी से नहीं होगा किसी राज्य का नुकसानजीएसटी बिल संसद में पेश किया गयाबीजेपी की शिकायत पर हेमंत शोरेन, बसंत शोरेन, और सीएम के बॉडीगार्ड पर एफआईआर दर्ज
दिल्ली के थानों में लेडी एसआई
नई दिल्ली, हिन्दुस्तान टीम First Published:03-01-13 11:31 PM

वसंत विहार सामूहिक दुष्कर्म कांड में दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को साकेत स्थित अदालत में आरोप-पत्र दाखिल कर दिया। इसमें पांच युवकों को आरोपी बनाया गया है। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने दिल्ली के सभी थानों में दो महिला सब इंस्पेक्टर और सात महिला पुलिस कांस्टेबल तैनात करने का ऐलान किया है। गृह मंत्री ने महिलाओं के लिए गठित स्पेशल टास्क फोर्स की बैठक के बाद कहा कि यह इसलिए जरूरी है, ताकि महिलाओं को थाने में शिकायत दर्ज कराने में परेशानी न हो।

गृह मंत्रालय ने महिलाओं की सुरक्षा पर विचार-विमर्श के लिए शुक्रवार को सभी राज्यों के डीजीपी व मुख्य सचिवों की बैठक भी बुलाई है। दूसरी ओर, पुलिस ने शाम सवा पांच बजे आरोप-पत्र ड्यूटी मजिस्ट्रेट सूर्या मलिक ग्रोवर की अदालत में पेश किया। इसके अधिकांश दस्तावेज सीलबंद लिफाफे में दाखिल किए गए। इस दौरान पुलिस ने मामले की एफआईआर और फॉरेंसिक रिपोर्ट को सीलबंद रूप में पेश करने की अनुमति मांगी, ताकि पीड़िता की पहचान को गुप्त रखा जा सके।

साथ ही इस मामले की सुनवाई कैमरे के सामने करने और मीडिया को इससे दूर रखने का आग्रह भी किया। इस पर अदालत ने कहा कि इसका फैसला केस से संबंधित कोर्ट ही करेगा। आरोपपत्र 1260 पन्नों का है। विशेष सरकारी वकील राजीव मोहन के मुताबिक 33 पन्नों में सभी छह आरोपियों (जिनमें कथित नाबालिग आरोपी भी शामिल है) की सामूहिक दुष्कर्म में संलिप्तता का ब्योरा दिया गया है। उधर, पीड़िता को जल्द न्याय और महिलाओं की सुरक्षा को लेकर गुरुवार को भी जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन जारी रहा।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड