शुक्रवार, 22 मई, 2015 | 15:31 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    9 अभिनेत्रियां जिनकी मौत आज भी है रहस्य कोयला घोटाला: जिंदल, राव, कोड़ा को जमानत अरुण जेटली ने गिनाईं मोदी सरकार की उपलब्धियां, कहा दुनिया में बढ़ा भारत का मान प्रकृति एवं पर्यावरण पर ग्रीष्मकालीन शिविर आईपीएल सट्टेबाजी केस में ईडी ने मारे छापे मतदाताओं के लिए आधार की अनिवार्यता पर माकपा को आपत्ति केजरीवाल भड़के, बोले दिल्ली पर राज करना चाहते हैं मोदी पीएफ का पैसा निकालने जा रहे हैं, तो पहले जरूर पढ़ें ये खबर रक्षा मंत्री बोले, जो भी घुसपैठ करेगा उसका सफाया कर देंगे आईपीएल: मैच ही नहीं, कप्तानी का भी मुकाबला
बेटी के नाम कानून पर परिवार भी राजी
बलिया, हिन्दुस्तान टीम First Published:02-01-13 11:27 PM

बलात्कार के संबंध में बनने वाले कानून का नामकरण बेटी के नाम पर करने को लेकर पीड़ित परिवार को कोई ऐतराज नहीं है। एक दिन पहले केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने दिल्ली में सामूहिक बलात्कार का शिकार हुई लड़की का नाम सार्वजनिक किए जाने संबंधी बयान दिया था।

लड़की के पिता ने कहा- बेटी के नाम पर कानून बने और सख्ती से लागू हो ताकि हर बलात्कारी के दिल में खौफ पैदा हो। इसकी मिसाल देनी चाहिए सभी आरोपियों को फांसी पर लटकाकर। पिता ने शशि थरूर के ट्विट का समर्थन करत हुए कहा कि आधुनिक सोच में अब बेटियों को बदनामी का दकियानूस विचार हमें लड़ने की ताकत देने के बजाय कमजोर ही करेगा।

पिता के विचारों से लड़की की मां और दादा ने भी समर्थन जताते हुए कहा कि हम बिटिया का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे। थरूर ने मंगलवार को ट्विटर एकाउंट पर कहा था- पीड़िता का नाम गुप्त रखने से कौन सा हित सध रहा है। यदि पीड़िता के माता-पिता को आपत्ति न हो तो बलात्कार विरोधी संशोधित कानून का नाम लड़की के नाम पर रखा जाना चाहिए।

 

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image Loadingआईपीएल सट्टेबाजी केस में ईडी ने मारे छापे
ईडी ने आईपीएल मैचों से जुड़े सट्टेबाजी गिरोहों के खिलाफ हवाला और मनी लाउंड्रिंग की जांच के सिलसिले में दिल्ली, मुंबई और जयपुर समेत कई शहरों में आज छापे मारे।