शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 02:50 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
शीना बोरा के इस्तीफे पर फर्जी साइनः राकेश मारिया।
पेट्रोल-डीजल दामों के साथ बढ़ेगा सेस
नई दिल्ली, अरविंद सिंह First Published:30-12-2012 11:32:08 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

केंद्र सरकार ने जनता की जेब ढीली कर अपना खजाना भरने का नया फामरूला तैयार कर लिया है। इसके तहत पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी के साथ उसी अनुपात में सेस की दरें भी बढ़ जाएंगी। यानी, नई नीति लागू होने पर वाहन चालकों को ज्यादा सेस देना पड़ेगा।

योजना आयोग ने इससे संबंधित प्रस्ताव सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्रालय को भेजा है। अधिकारियों का कहना है कि प्रस्ताव को मंजूरी के लिए जल्द ही कैबिनेट में पेश किया जाएगा। सेस विशेष योजनाओं के लिए वसूला जाने वाला केंद्रीय उपकर है। पेट्रोल-डीजल पर सेस का 85% हिस्सा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया को मिलता है। सरकार का मानना है कि सेस बढ़ाने से सेट्रल रोड फंड में अधिक फंड जमा होगा। इससे राज्यों के राजमार्ग व अन्य सड़कों व परियोजनाओं पर तेजी से काम हो सकेगा। हालांकि, इसका विरोध भी शुरू हो गया है। ट्रक ऑपरेटर संगठन आकागोवा के महासचिव चितरंजन दास ने कहा कि सेस की दरें बढ़ाना तर्कसंगत नहीं है। इससे मालभाड़ा भी बढ़ जाएगा, जिसका बोझ आम जनता पर ही पड़ेगा।

 

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।