गुरुवार, 02 जुलाई, 2015 | 02:40 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अब मोबाइल फोन से डायल हो सकेगा लैंडलाइन नंबर गोद से गिरी बच्ची, बचाने के लिए मां भी चलती ट्रेन से कूदी बलात्कार मामलों में कोई समझौता नहीं, औरत का शरीर उसके लिए मंदिर के समान होता है: सुप्रीम कोर्ट अब यूपी पुलिस 'चुड़ैल' को ढूंढेगी, जानिए क्या है पूरा मामला  खुलासा: एक रुपया तैयार करने का खर्च एक रुपये 14 पैसे दार्जिलिंग: भूस्‍खलन के कारण 38 लोगों की मौत, पीएम ने जताया शोक, 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान यूनान ने किया डिफॉल्ट, नहीं चुकाया अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष का कर्ज विकी‍पीडिया पर नेहरू को मुस्लिम बताये जाने पर भड़की कांग्रेस, पूछा अब क्या कार्रवाई करेगी मोदी सरकार PHOTO: जब मंत्रीजी ने पकड़ी लेडी डॉक्टर की कॉलर और बोले... ललित मोदी के ट्वीट पर बवाल, भाजपा नहीं करेगी वरुण गांधी का बचाव
पुलिस से खतरा बता छोड़ा गांव
ग्रेटर नोएडा First Published:29-12-12 11:38 PM

जारचा कोतवाली क्षेत्र के गांव छायसा में गैंगरेप पीड़ित छात्रा और उसके परिवार ने गांव छोड़ दिया है। छात्रा के पिता ने जिलाधिकारी कार्यालय में मुख्यमंत्री के नाम एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में कहा गया है कि आरोपियों से छात्र को जान का खतरा है। पुलिस आरोपियों को संरक्षण दे रही है।

गौरतलब है कि 26 दिसंबर को छायसा गांव की 10वीं कक्षा की एक छात्रा का गांव के ही पांच युवकों ने अपहरण कर लिया था। कार में गैंगरेप के बाद उसे दादरी के पास फेंक दिया गया। युवती अपने पिता के साथ थाने में शिकायत करने पहुंची लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज नहीं की।

इसके बाद गांव में पंचायत ने फैसला दिया कि परिवार केस दर्ज नहीं करवाएगा। लेकिन परिवार ने निर्णय मानने से इनकार दिया। काफी प्रयास के बाद गुरुवार को अपहरण और छेड़खानी का मामला ही दर्ज किया। मामला मीडिया में आने पर छात्रा का मेडिकल हुआ।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड