गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 22:13 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं कालेधन मामले में सभी दोषियों की खबर लेगा एसआईटी: शाह एनसीपी के समर्थन देने पर शिवसेना ने उठाये सवाल 'कम उम्र के लोगों की इबोला से कम मौतें'  स्वामी के खिलाफ मानहानि मामले की सुनवाई पर रोक
पीड़िता की आखिरी जंग
सिंगापुर, एजेंसियां First Published:28-12-12 11:25 PM

सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रही सामूहिक बलात्कार की पीड़ित छात्र की तबीयत शुक्रवार को काफी बिगड़ गई। शाम को अस्पताल की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा गया कि उसके शरीर के अंग कमजोर प्रतिक्रिया दे रहे हैं, जो ये संकेत कर रहा है कि कई अंग काम करना बंद कर सकते हैं। अस्पताल की ओर से कहा गया कि डॉक्टर अधिकतम वेंटिलेटर सपोर्ट के साथ पीड़िता की जिंदगी बचाने की कोशिश में जुटे हैं।

पीड़िता को जरूरी एंटीबॉयोटिक दवाएं दी जा रही हैं। उसके परिजनों को ये जानकारी दे दी गई है कि पीड़िता की हालत खराब होती जा रही है। इससे पहले सुबह अस्पताल की ओर से जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा गया कि लड़की के दिमाग में भी गहरा आघात (ब्रेन इंजरी) है। अस्पताल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. केल्विन लोह ने भारतीय समयानुसार सुबह साढ़े आठ बजे जारी जारी एक बयान में कहा कि सिर की चोट (ब्रेन इंजरी) के कारण लड़की की हालत ज्यादा बिगड़ गई है। वह जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है।

उन्होंने कहा कि अब तक जो जांच हुई है, उससे लगता है कि लड़की को दिल का दौरा पड़ने के साथ ही फेफड़े और पेट में संक्रमण भी है, उसके सिर पर भी गंभीर चोट लगी है। गुरुवार सुबह से सिंगापुर के इस सुपर स्पेशलिटी हॉस्पीटल के आईसीयू में डॉक्टरों की टीम लगातार बारीकी से पीड़िता की जांच पड़ताल में जुटी है।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ